BREAKING NEWS
Search
Legal services authority

स्विट्जरलैंड में झारखंड की स्वास्थ्य स्थिति पर दिया मंतव्य, 36 देशों के 360 प्रतिनिधियों ने लिया भाग

395
Raghunandan Mehta

रघुनंदन कुमार मेहता

गिरिडीह। जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण गिरिडीह द्वारा सिहोडीह पंचायत में संचालित विधिक सहायता केन्द्र के अर्ध विधिक स्वंय सेवी सह समाज सेवी सहदेव राणा ने राज्य में स्वास्थ की स्थिति पर तारा प्रोजेक्ट दिल्ली की सहभागी संस्था ग्राम कल्याण गिरिडीह के सहयोग से जिनेवा की राजधानी स्विट्जरलैंड में इमावस इंटरनेशनल द्वारा आयोजित पांच दिवसीय कार्यक्रम में झारखंड राज्य के प्रतिनीधी के रूप में भाग लेकर झारखंड के स्वास्थ पर अपनी विचार रखा।

कार्यक्रम में विश्व के 36 देशों के 360 प्रतिनिधियों ने भाग लेकर अपने अपने राज्य की स्थिति पर चर्चा किया गया। कार्यक्रम में झारखंड का स्वास्थ पर चर्चा करते हुए राणा ने राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में 60 से 70 प्रतिशत महिलाऐं एनीमिया एंव कुपोषण से ग्रशित है। ऐसी महिलाओं का शारीरिक वजन 40 किलो ग्राम के अंदर होने की जानकारी दी।

आज भी राज्य की अधिकांश महिलाऐं अंधविश्वास व जागरूकता के अभाव के कारण माहवारी के दौरान एक हीं कपड़े का प्रयोग साफ कर पुरी अवधी तक करते हैं। जिससे कई तरह की संक्रमण फैलने की आशंका रहती है। जिससे कई तरह की बीमारियां जन्म ले रही है। सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की घोर कमी है जिसके कारण निचे तबके को इलाज में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीण क्षेत्रों में पहले की अपेक्षा महिलाऔ़ में शिक्षा का ग्राफ तो बढ़ा है। लेकिन मेट्रिक से आगे की शिक्षा स्तर में आज भी सुधार नहीं हुआ है। किसान खेतों से अधिक उपज के लालच में कई तरह की रासायनिक दवाईयां व उर्वरक का प्रयोग कर नित्य नई बीमारियों को आमंत्रीत कर रहे हैं। जिससे स्वास्थ पर प्रतिकूल असर देखा जा रहा है।

कल तक जो बीमारी के संबध में लोग अखबार व इलेक्ट्रॉनिक चैनलों के माध्यम से जानते थे। आज वह हर घरों में अपना  पैर पसारना आरम्भ कर दिया है। कार्यक्रम के अंतिम दिन प्रतिभागियों ने यूनाईटेड नेशन तक प्लैग मार्च निकाल शांति का संदेश दिया गया। स्विट्जरलैंड कार्यक्रम में भाग लेकर वापस आने पर सहदेव राणा को गिरिडीह के अर्ध विधिक स्वंय सेवी बैधनाथ, कामेश्वर कुमार, संजय ठाकुर, जिलानी बानो, रीता कुमारी, वाणा बर्मा आदि ने  बधाई दिया गया।