BREAKING NEWS
Search
Nirbhaya verdict pawan

पवन के फांसी लगते ही गांव में पसरा सन्नाटा। विधि का विधान मान रहे गांव के लोग

168
Rekha Soni

रेखा सोनी की रिपोर्ट,

कुशीनगर। निर्भया के गुनहगारो को शुक्रवार तड़के 5:30 बजे तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया।गुनहगारों मे अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय शर्मा और पवन गुप्ता सहित छह लोग शामिल थे।

पवन गुप्ता उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के जगन्नाथपुर गांव का रहने वाला था। फांसी के दो दिन पहले से ही इस गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। पवन के नात रिश्तेदार चुप्पी साधे हैं तो ग्रामीण इसे विधि का विधान मान रहे हैं। शुक्रवार को फांसी के बाद गांव में मातम छाया हुआ है। गांव का कोई भी शख्स अपने घर से बाहर तक नहीं निकला।निर्भया के गुनहगार आखिरकार सात साल, तीन महीने और तीन दिन बाद फांसी पर चढ़ा दिए गए। निर्भया के चारों गुनहगारों अक्षय ठाकुर, मुकेश सिंह, विनय शर्मा और पवन गुप्ता सहित छह लोग शामिल थे। इसमें रामसिंह नामक एक शख्स ने जेल में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी और एक नाबालिक को सुधार गृह से रिहा कर दिया गया।