BREAKING NEWS
Search
anti viral foods for coronavirus prevention

Coronavirus Prevention: खाने में ज़रूर इस्तेमल करें ये 5 एंटी-वायरल चीज़ें

405

New Delhi: कोरोना वायरस संक्रमण से पूरी दुनिया में मरने वालों की संख्या 4 हज़ार से ज़्यादा हो गई है। वहीं, वायरस से अब तक 1,69,385 लोग संक्रमित हैं। कई देशों ने पुष्टि की है कि उनके देश में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है, जिसमें तुर्की में भी एक व्यक्ति में कोरोना वायरस पाया गया है। जबकि, भारत में कुल 110 लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है, जिसमें 93 भारतीय और 17 विदेशी नागरिक शामिल हैं।

अफवाहों से कैसे बचें

फिलहाल, कोरोना वायरस के रोकथाम एवं उपचार के लिए कोई दवा या वैक्सीन नहीं है। ऐसे में सोशल मीडिया पर फैल रहे, अफवाहों पर ध्यान न दें। आजकल सोशल मीडिया पर ऐसी अफवाहें फैलाई जा रही है, जिसमें दावा किया जाता है कि कोरोना वायरस का इलाज संभव है। इस तरह की खबरों पर ध्यान न दें। समय है कि आप अपने सेहत पर विशेष ध्यान दें और अपने इम्यून सिस्टम को मज़बूत करें। ऐसे में हम आपको उन एंटी वायरल फूड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके सेवन से आपका इम्यून सिस्टम मज़बूत होगा। साथ ही ये आपको संक्रमित बीमारियों से दूर रखेगा।

लहसुन

इसमें एलिसिन (Allicin) पाया जाता है, जिसके सेवन से शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। आप लहसुन की दो कली को रोज़ाना गर्म पानी के साथ लें। इसके साथ ही आप चाहे तो लहसुन की कली का सूप बनाकर भी पी सकते हैं। इसके सेवन से आप तमाम तरह के वायरल इंफेक्शन और वायरस संक्रमण से बच सकते हैं।

दही

नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफोर्मेशन के एक रिसर्च के अनुसार दही के सेवन से RTIs यानी ऊपरी श्वसन तंत्र संक्रमण का प्रभाव कम होने लगता है। खासकर, बच्चों के लिए दही रामबाण जैसा है, जिनका इम्यून सिस्टम बेहद कमज़ोर होता है। वैसे, एक स्वस्थ व्यक्ति को भी दही का सेवन करना चाहिए। इससे बदलते मौसम में होने वाली बीमारियों से आप निजात पा सकते हैं।

मशरूम

शिटेक मशरूम, बीटा-ग्लूकन्स से भरपूर होता है, जिसे एंटीवायरल और  एंटीबैक्टीरियल के नाम से भी जाना जाता है। यह न केवल आपकी इम्युनिटी को मज़बूत करता है बल्कि कई प्रकार की बीमारियों से भी रक्षा करता है। आप चाहे तो शिटेक मशरूम को नारयिल तेल में पकाकर खा सकते हैं।

दाल-चीनी

यह खूशबूदार मसाला न केवल आपके ज़ायके का स्वाद बढ़ाता है बल्कि बल्ड प्रेशर को नियंत्रित करता है। साथ ही शरीर को वायरल इंफेक्शन से बचाता है। टूरो कॉलेज न्यूयॉर्क के एक रिसर्च से खुलासा हुआ है कि दाल-चीनी में एंटी-वायरल गुण पाए जाते हैं।

कैसे करें सेवन

इसके लिए आप दाल-चीनी एक टुकड़े को पानी में डालकर रात भर के लिए छोड़ दें। अगली सुबह इस पानी का सेवन करें। इसके साथ ही आप एक चुटकी दाल-चीनी को चाय या काफी में डालकर भी स्वाद बढ़ा सकते हैं और दाल-चीनी का नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं।

मूलेठी

चीन में बड़ी मात्रा में इसका इस्तेमाल प्राचीन औषधि के रूप में की जाती है। नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफोर्मेशन यानि की NCBI के अनुसार मूलेठी का इस्तेमाल इसकी एंटी-वायरल, एंटी-माइक्रोबियल, एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटी-ट्यूमर गुणों की वजह से किया जाता है।