BREAKING NEWS
Search
Spices for health benefits

किचन में मौजूद इन 6 मसालों का सेवन रखेगा, आपको हर तरह के इंफेक्शन से दूर

288

New Delhi: हमारे किचन में मौजूद मसालों का काम महज खाने का स्वाद बढ़ाना ही नहीं है, बल्कि इनका इस्तेमाल हम कई तरह के रोगों के उपचार में भी कर सकते हैं। एंटीबैक्टीरियल, एंटीइंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज से भरपूर ये मसाले मौसमी बीमारियों के इंफेक्शन से बचाने के साथ ही दिल की बीमारियों, डायबिटीज और कैंसर इत्यादि के खतरे को भी कम करते हैं। हाल-फिलहाल दुनियाभर में फैल चुके कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अपने खानपान में इन मसालों की ज्यादा से ज्यादा मात्रा शामिल करें।

हल्दी

हल्दी में प्राकृतिक रूप से एंटीइंफ्लेमटरी और एंटीऑक्सीडेंट्स प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसकी वजह से इसका सेवन हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। हल्दी में मौजूद करकुमिन नामक पावरफुल एंटीऑक्सीडेंट हमारी कोशिकाओं को नष्ट होने से रोकता है और नई कोशिकाओं के निर्माण में सहायक होता है।

आजवाइन

पानी में एक टीस्पून आजवाइन को उबालकर पीने से बीमारियों के संक्रमण और बुखार से काफी हद बचा जा सकता है। आजवाइन में मौजूद कंपाउंड नियासिन और थाइमोल की वजह से हृदय तक रक्त संचार सुचारु रूप से होता है और दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा कम होता है।

हींग

इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीबायोटिक और एंटीवायरल प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं, जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाती हैं। हींग में मौजूद एंटीवायरल कंपाउंड फ्लू, गले में इंफेक्शन और सूखी खांसी से बचाते हैं।

दालचीनी

दालचीनी में मौजूद एक्टिव कंपोनेंट सिनामलडिहाइड में प्रचुर मात्रा में एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं, जो किसी भी प्रकार के इंफेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं। दालचीनी वाली चाय या काढ़े का सेवन बीमारियों के संक्रमण, गले में खराश, सर्दी-जुकाम से बचाव के लिहाज से बेहतरीन आइडिया है।

काली मिर्च

इसमें प्रचुर मात्रा में एंटीबैक्टीरियल, एंटीऑक्सीडेंट्स और एंटीइंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज पाई जाती हैं। हमारा प्रतिरोधक तंत्र बैक्टीरियाज को शरीर से बाहर निकालने का कार्य करता है, लेकिन कुछ बैक्टीरिया सेहत को महफूज रखने का कार्य करते हैं, जिन्हें प्रोबायोटिक कहा जाता है। कालीमिर्च में प्रोबायोटिक प्रॉपर्टीज भी पाई जाती हैं, जो गुड बैक्टीरियाज को बढ़ाकर हमारी आंतों की सेहत दुरुस्त रखने का कार्य करती हैं।

लौंग

खड़े मसालों में शुमार लौंग का स्वाद ही नहीं, बल्कि इसमें मौजूद गुण भी हैं लाजवाब। इसमें मौजूद विटामिन सी शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है। लौंग में एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज भी प्रचुर मात्रा में पाई जाती हैं, जो हानिकारक बैक्टीरिया की ग्रोथ को रोकती हैं। लौंग में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स यूजीनॉल, विटामिन सी और अन्य पोषक तत्व क्रोनिक डिजीज व कैंसर इत्यादि का खतरा कम करते हैं।