Foreign Minister

कुछ यूँ समाप्त हुआ दिल्ली कि पहली महिला मुख्मंत्री सुषमा स्वराज का सफ़र

172

काजल सिंह की रिपोर्ट,

दिल्ली। दिल्ली की पहली मुख्यमंत्री और देश की पूर्व विदेशमंत्री सुषमा स्वराज अब  हमारे बिच नहीं रहीं। मंगलवार रात  सीने में दर्द के बाद  सुषमा जी को रात 9:35 बजे एम्स लाया गया जहां दिल कि धड़कन रुक जाने के कारण उनकी मौत हो गयी। 

भाजपा के ओजस्वी वक्ताओं में से एक  सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को हरियाणा के अंबाला छावनी में हुआ था | 25 साल की उम्र में हरियाणा सरकार में कैबिनेट मिनिस्टर बन गई थी| वह एक तेजस्वी वक्ता और सौम्य आचरण के वाली महिला होने के साथ -साथ एक बहुत ही प्रतिभाशाली विदेश मंत्री भी थीं। विंग कमांडर अभिनन्दन और गीता को पकिस्तान से भारत वापस लाने  में उनका बड़ा योगदान रहा।

अपने लास्ट ट्वीट में मोदी जी को बधाई देते हुए कहा कि मैं इस दिन का जीवन भर से इंतजार कर रही थी आपने सही फैसला लिया कश्मीर को लेकर| 

आपको बताते चलें  इस 67 वर्षीय अद्भुत नेता के  पार्थिक शरीर को बुधवार दोपहर 3:00 बजे लोधी रोड श्मशान घाट पर की जाएगी | इससे पहले पार्थिक शरीर को भाजपा मुख्यालय में दर्शन के लिए रखा जाएगा |

पिछले एक साल में देश ने खो दिए 3 गौरवशाली नेता जो रह चुके हैं दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री 

पिछले महीने दिल्ली को ग्रीन दिल्ली बनाने वाली शीला दीक्षित का निधन हो गया था। उन्होंने 20 जुलाई को अपनी अंतिम सांस  ली। उन्होंने लगातार 15 सालों तक (1998-2013) दिल्ली मुख्या मंत्री के रूप में  काम किया।

उससे पहले दिल्ली में लगातार 3 सालों तक  मुख्यमंत्री का पद संभाल चुके 82 वर्षीया मदन लाल  खुराना का भी  पिछले साल अक्टूबर में निधन हो गया था।