BREAKING NEWS
Search
pakistani drones in punjab

पंजाब के फिरोजपुर व तरनतारन में घुसे तीन पाकिस्‍तानी ड्रोन, BSF ने की फायरिंग, सर्च ऑपरेशन

190

New Delhi: यहां भारत-पाक बॉर्डर क्षेत्र में एक फिर पाकिस्‍तानी ड्रोन दिखाई दिए। फिरोजपुर के सीमावर्ती गांव के पास एक ड्रोन दिखाई दिया तो तरनतारन में दो पाकिस्‍तानी ड्रोन मंडराते दिखे। इससे सनसनी फैल गई। सीमा पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (BSF) के जवानों ने दोनों जगह इन ड्रोन को मार गिराने के लिए फायरिंग की, लेकिन वे बचकर भागने में कामयाब रहे। तरनतारन में खेमकरण सेक्‍टर में दो ड्रोन दिखाई दिए। दोनों क्षेत्रों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

फिरोजपुर में ड्रोन बॉर्डर एरिया के गांव टेंडीवाला में दिखाई दिया। सुरक्षा बल पूरे क्षेत्र में सर्च ऑपरेशन चला रही हैं। इससे पहले भी फिरोजपुर के बार्डर क्षेत्र सहित पंजाब के कई सीमा क्षेत्रों में पाकिस्‍तानी ड्रोन दिखाई दे चुके हैं। ड्राेन से हथियार और नशीले पदार्थ भेजे जाने की बात सामने आई थी। तरनतारन में भारत-पाक अंतरराष्ट्रीय सीमा पर खेमकरण सेक्‍टर में बीती रात करीब 10 बजे दो ड्रोन देखे गए। मौके पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने ड्रोन को मार गिराने के लिए 10 राउंड फायर किए, लेकिन दोनों ड्राेन पाक सीमा मेें भाग गए। मंगलवार को सुबह आठ बजे से बीएसएफ द्वारा सर्च अभियान चलाया जा रहा है।।

जानकारी के अनुसार, बीती रात फिरोजपुर में बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ के जवानों ने टेंडीवाला गांव के पास पाकिस्‍तान की ओर से उड़कर आते एक ड्रोन को देखा। इस संदिग्‍ध ड्रोन के लगातार भारतीय क्षेत्र में घुसते देख बीएसफ के जवानों ने मार गिराने के लिए फायरिंग की, लेकिन ड्रोन बचकर निकल गया। बता दें कि इससे पहले भी फिरोजपुर के बॉर्डर इलाके में पा‍किस्‍तानी ड्रोन के घुसने की घटनाएं हो चुकी हैं। तरनतारन, अमृतसर के अटारी क्षेत्र सहित पंजाब के कई इलाकों में पाकिस्‍तानी ड्रोन के घुसने की घटनाएं हो चुकी हैं।

जानकारी के अनुसार, भारत-पाक सीमा के फिरोजपुर सेक्टर की चौकी बीओपी शामे के गाव टेंडी वाला के पास दो बार पाकिस्तानी ड्रोन भारतीय सरहद में दाखिल हुआ। दूसरी बार ड्रोन पाकिस्तान से भारत की तरफ दाखिल हुआ तो बीएसएफ की 136 बटालियन के जवानों ने उसे मार गिराया। घटना बीती देर रात हुई। घटना के बाद बीएसएफ ने पंजाब पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट कर दिया। पाकिस्तानी ड्रोन जिस एरिया में देखे गए है वहां पर सुरक्षा एजेंसियों द्वारा अभी सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

गांव  टेंडीवाला और आसपास के क्षेत्र के लोगों में घटना के बाद दहशत है। गांव वालों के अनुसार, उन्‍होंने देर रात क्षेत्र में एक ड्रोन को मंडराते देखा।लोगों ने इस बारे में स्थानीय पुलिस को तुरंत जानकारी दी। पंजाब पुलिस के जवानों ने बीएसएफ के जवानों के साथ मिलकर जांच अभियान शुरू कर दिया। रात 8:45 बजे के करीब यह मामला सामने आया था। गांव वाले भी सड़कों पर निकल आए थे। इसके बाद ड्रोन गायब हो गया।

इसके थोड़ी देर बाद फिर ड्रोन भारतीय सीमा में दाखिल हुआ तो बीएसएफ के जवानों ने उसे फायरिंग कर दी, लेकिन ड्रोन को गिराने में नाकामयाब रहे। देखते ही देखते लोगों की भीड़ जमा हो गई। बीएसएफ के जवानों ने और पंजाब पुलिस के जवानों ने अपने-अपने उच्च अधिकारियों को इस बारे सूचना दी। इसके बाद उच्च अधिकारियों ने भी क्षेत्र को मुआयना किया। फिलहाल ड्रोन जैसा कोई भी यंत्र आदि नहीं मिला, लेकिन इस घटना के साथ ही लोगों में दहशत है।

बता दें इससे पहले भी सितंबर के महीने में लगातार पांच से छह रातों तक ड्रोन देखे गए थे। उस वक्त भी शाम 7:00 बजे से लेकर रात 10:30 बजे के बीच ड्रोन देखे जाने की बात सामने आई थी। बीएसएफ के अधिकारियों ने अभी तक ड्रोन देखे जाने की बात से इन्‍कार नहीं किया था। बीएसएफ के अधिकारियों का कहना था कि ड्रोन जैसा देखा गया था, जिसके चलते उन्होंने सतर्कता दिखाते हुए देर रात से लेकर सुबह तक सर्च अभियान चलाए, लेकिन तब भी कोई ड्रोन या ऐसा यंत्र बीएसएफ के हाथ नहीं लगा था।

अधिकारियों का मानना है कि जिस प्रकार से तरनतारन में ड्रोन और ड्रोन सप्लाई करने वाले लोगों को पुलिस ने पकड़ा है उस लिहाज से उन्हें सतर्कता बरतनी बहुत जरूरी है और बीएसएफ के जवान सरहद पर निगाहें लगाए रहते हैं। अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि हथियारों या हेरोइन तस्करी के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। बीएसएफ का सर्च अभियान जारी है। दूसरी तरफ, पंजाब पुलिस के डीएसपी हेडक्वार्टर गुरदीप सिंह ने कहा कि वह घटनास्‍थल परर गए थे, लेकिन अभी ड्रोन के मामले की पुष्टि नहीं हुई है।