BREAKING NEWS
Search
varanasi

कल पीएम होगें वाराणसी में, दौरे से पहले पेश की काशी की बदलती तस्वीर, भूले पक्का महाल की दयनीय हालत को दिखाना

574

वाराणसी दौरे से पहले पीएम मोदी काशी के बाहरी आवरण की तस्वीरें ट्वीट के माध्यम से साझा की है। पक्का महाल के टूटते मकान, खत्म होती गलियों और खत्म होते पुराने मंदिरों के बारे में हालांकि उन्होने कोई बात नही की है…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

वाराणसी। देश के प्रधानमंत्री और वाराणसी के सांसद नरेन्‍द्र मोदी सोमवार को 15वीं बार अपने संसदीय क्षेत्र के दौरे पर आ रहे हैं। बनारस पहुंचने से पहले ही प्रधानमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिये बनारस में हुये विकास की तस्वीरें साझा कर डालीं।

पीएम मोदी ने अपने प्रशंसकों के ट्वीट को भी रीट्वीट करते हुए वाराणसी में हो रहे विकास कार्यों पर अपने मन की बात व्‍यक्‍त की है।

अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी को लेकर शनिवार से शुरू हुआ प्रधानमंत्री के ट्वीट का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। उन्‍होंने अपने ट्वीट के जरिये अपनें आगामी वाराणसी दौरे की जानकारी दी है।

वाराणसी निवासी कंपनी सेक्रेट्री आनंद वर्मा के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री ने लिखा है, ”काशी नगरी ने मुझे ना सिर्फ अपना आशीर्वाद दिया है बल्‍कि यहां मुझे अद्वितीय स्‍नेह भी मिला है।” प्रधानमंत्री आगे लिखते हैं, ”ये प्राचीन नगरी जिन बदलावों और नये इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर डेवलपमेंट की हकदार है, मैं उसके लिये हर संभव प्रयास कर रहा हूं।”

सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के ऑफिसियल ट्विटर हैंडल से बाबतपुर-वाराणसी एयरपोर्ट मार्ग की तस्‍वीरों को ट्वीट किया गया, जिसे रीट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री ने लिखा, ”यह एक वृहत इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्‍ट है, जो वाराणसी की जनता के जीवन को सुगमता प्रदान करेगा और उसमें इजाफा करेगा।”

प्रेस इन्‍फॉर्मेशन ब्‍यूरो के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने लिखा, ”इस महीने की 12 तारीख को, मैं काशी में विभन्‍न विकास कार्यों का उद्घाटन कर रहा हूं। ये विकास योजनाएं ना सिर्फ काशी बल्‍कि पूरे उत्‍तर प्रदेश, खासकर पूर्वांचल के लिय एक प्रभावशाली परिवर्तन साबित होंगी।”

अपने ट्विटर हैंडल पर वाराणसी रिंग रोड की तस्‍वीरें शेयर करते हुए पीएम लिखते हैं ”रिंग रोड फेज़ 1, वाराणसी में मेरे द्वारा लोकार्पित होने जा रही एक बड़ी परियोजना है। ये रिंग रोड काशी के लिये सुगम और सुविधाजनक यातायात का स्रोत बनेगी। इस रिंग रोड से यात्रा के समय और ईंधन की खपत में भी बचत होगी। और हां इस रिंग रोड के जरिये सारनाथ जाना भी काफी आसान हो जाएगा।”

बाबतपुर-वाराणसी हाईवे की तस्‍वीरें शेयर करते हुए प्रधानमंत्री ने लिखा है, ”बाबतपुर एयरपोर्ट हाईवे के उद्घाटन के साथ ही वाराणसी पहुंचना काफी आसान हो जाएगा। इन तस्‍वीरों में आप इस अत्‍याधुनिक परियोजना को देख सकते हैं। इस प्रोजेक्‍ट से जौनपुर, सुल्‍तानपुर और लखनऊ जाना काफी आसान होगा। कह सकते हैं कि ये काशीवासियों के लिये फायदे का सौदा होगा।”

नरहूपुर में तैयार बने देश के पहले इनलैंड वाटर वे टर्मिनल के लोकार्पण से पहले ही प्रधानमंत्री ने अपने ट्विटर हैंडल पर इसकी कुछ तस्‍वीरें शेयर की हैं। उन्‍होंने लिखा है, ”कल वाराणसी में इनलैंड वाटर-वे टर्मिनल का लोकार्पण जल शक्‍ति के उपयोग की बड़ी इबारत लिखेगा। नदी बंदरगाह के निर्माण की इस योजना से भारत की विकास यात्रा को बल मिलेगा।”

इसी तरह दीनापुर एसटीपी की तस्‍वीरें शेयर करते हुए पीएम ने लिखा है, ”सीवरेज प्रोजेक्‍ट के जरिये काशी स्‍वच्‍छ और स्‍वस्‍थ्‍य बनेगी। 140 एमएलडी दीनापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्‍लांट का दीर्घकालीन फायदा बनारस और इसके आस-पास के इलाकों को मिलेगा। साथ ही गंगा की स्‍वच्‍छता के लिये भी ये प्रोजेक्‍ट बहुत फायदेमंद है।”

हालांकि पीएम नें वाराणसी के दिल कहे जाने वाले पक्का महाल और उससे जुड़े क्षेत्र की दयनीय हालात न कोई तस्वीर पेश की और न ही उसके बारे में कोई ट्वीट ही किया।

आपको बता दें कि काशी विश्वनाथ मंदिर से गंगा कॉरिडोर बनाने के लिये लोगो से जबरदस्ती मकान खरीदकर उसे तोड़ा जा रहा है। किसी मकान पर कानूनी रूप से कोर्ट द्वारा स्टे लगा हो लेकिन तब भी मंदिर प्रशासन उसे ध्वस्त करने से बाज नही आ रहा है।

पक्का महाल भाजपा का गढ़ माना जाता है लेकिन जमीनी हकीकत यह है कि वहां के निवासी सरकारी मशीनरी से तंग आकर आगामी लोकसभा चुनाव में नोटा का विकल्प चुनने की बात कर रहे हैं।