BREAKING NEWS
Search
Ram Rahum Verdict

तमाम हिंसा के बावजूद भी नही बचा पाए राम रहीम को उनके समर्थक, रेपिस्ट राम रहीम गए जेल

478
Anil Aryan

अनिल आर्यन

रोहतक। दोषी कोई भी हो, कानून उसे नही छोड़ता, इसका उदाहरण देखने को मिल ही गया। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को रोहतक की सुनरियां जेल लाया गया। राम रहीम को शाम करीब 5.30 बजे हेलीकाप्टर से रोहतक लाया गया।

राम रहीम को जेल के पास बनी पुलिस मेस में अस्थायी रूप से रखा गया है। इसी मेस को जेल भी बनाया जा सकता है। मेस की सुरक्षा व्यवस्था कड़ी की गई। एक किलोमीटर तक किसी को भी आने जाने की अनुमति नहीं है।

बता दें कि साध्वी यौन शोषण मामले में डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दोषी ठहराए जाने के बाद उत्तर भारत हिंसा की आग में जल उठा। डेरा समर्थकों ने हरियाणा, पंजाब के साथ उत्तर प्रदेश और दिल्ली में जमकर उपद्रव मचाते हुए सौ से ज्यादा वाहनों और सरकारी भवनों को आग के हवाले कर दिया। हिंसा में अभी तक दो दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। इनमें से एक दर्जन से अधिक पंचकूला में ही हिंसा का शिकार हुए, दर्जनों लोग घायल हुए हैं।

पंचकूला के सरकारी अस्पताल में उनका उपचार चल रहा है। पीएमओ के रिपोर्ट तलब करने पर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और हरियाणा के मनोहर लाल ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह को घटनाक्रम का ब्योरा दे दिया है। उपद्रवियों ने अमर उजाला के तीन पत्रकारों के वाहनों को जला दिया, जबकि तीन क्षतिग्रस्त कर दिए।

एक पत्रकार को पांव में चोट भी आई है। इसके अलावा निजी चैनलों की ओबी वैन भी जला दी गईं। राम रहीम को पंचकूला की विशेष सीबीआई अदालत के न्यायाधीश जगदीप सिंह ने धारा 376 और 506 के तहत दोषी ठहराया है। उन्हें सजा 28 अगस्त को सुनाई जाएगी।

शुक्रवार को हरियाणा, चंडीगढ़ और पंजाब में इंटरनेट, रेल व बस सेवाएं ठप रही। हरियाणा के एडीजीपी कानून एवं व्यवस्था मोहम्मद अकील के अनुसारं पुलिस ने अभी तक लगभग एक हजार उपद्रवियों को हिंसा भड़काने पर हिरासत में लिया है।

मोर्चा छोड़ भागी हरियाणा पुलिस

डेरा समर्थकों जैसे ही उपद्रव मचाते हुए पंचकूला के सेक्टर-5 गोलचक्कर से सेक्टर-2 की तरफ बढ़ना शुरू किया, हरियाणा पुलिस मोर्चा छोड़ भाग खड़ी हुई। पंचकूला की डीसी गौरी पराशर जोशी ने खुद लाइफ सेविंग जैकेट पहनते हुए अर्ध सैनिक बलों के जवानों के साथ मोर्चा संभाला। अर्ध सैनिक बलों के आगे बढ़ने पर पुलिस जवान बाद में साथ आए और उपद्रवियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े। डीसी ने पुलिस कर्मियों के भागने की शिकायत डीजीपी बीएस संधू से की है।

कानून से ऊपर कोई नहीं: मनोहर

हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने हिंसा के बाद कहा कि कानून से ऊपर कोई नहीं है। उपद्रवियों से सख्ती के साथ निपटा जाएगा। उन्होंने डेरा समर्थकों से शांति बनाए रखने की अपील की है।

[email protected]

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।