BREAKING NEWS
Search
Siddhu

दो अर्थ वाले चुटकुले सुना कर फिर से विवादों के घेरे में आये नवजोत सिंह सिद्धु

473

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के वकील एचसी अरोरा ने नवजोत सिंह सिद्धू के खिलाफ संज्ञान लेने की मांग करते हुए राज्य के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है…

शबाब ख़ान,

पंजाब। लगता है, क्रिकेटर से राजनेता बने पंजाब के संस्कृति मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू अब तक राजनीति में रम नहीं पाए हैं। इसीलिए अक्सर उनसे जुड़ी कोई न कोई चीज विवादों को हवा दे जाती है। सोमवार को उनसे जुड़ा नया विवाद सामने आया है। पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील एचसी अरोरा ने उन पर आरोप लगाया है कि उन्होंने राष्ट्रीय टीवी चैनल पर ‘दो अर्थ वाले चुटकुले’ सुनाकर अपने पद की गरिमा को कम किया है। यह मसला भी हास्य कलाकार कपिल शर्मा के टीवी से जुड़ा है, जिसमें सिद्धू सेलेब्रिटी जज हैं।

अरोरा ने इस सिलसिले में राज्य के मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। इसमें कहा है, ‘सिद्धू ने बीती रात (रविवार को) कपिल शर्मा के कार्यक्रम में दो अर्थ वाले भौंडे चुटकुले सुनाए। इससे मुझे काफी धक्का लगा। मैं असहज स्थिति में पड़ गया क्योंकि मैं उस वक्त पत्नी और बेटी के साथ कार्यक्रम देख रहा था। इस तरह का टिप्पणियां करना या चुटकुले सुनाना भारतीय दंड संहिता और सूचना एवं तकनीक कानून के तहत दंडनीय अपराध है। मेरा आपसे आग्रह कै कि इस पर संज्ञान लें। इस बारे में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को भी सूचित करें।’

उन्होंने बताया कि वे कार्यक्रम के इस एपिसोड की वीडियो क्लिपिंग हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं। ताकि मामले को प्रमाण सहित आगे ले जाया जा सके। अरोरा ने इस मामले में पहले ही हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगा रखी है। उन्होंने कोर्ट से मांग की है कि सिद्धू को इस कार्यक्रम में शामिल होने से रोका जाए। अपनी याचिका के पक्ष में उनकी दलील है, ‘चूंकि सिद्धू अब राज्य के मंत्री बन चुके हैं। ऐसे में, इस तरह के कार्यक्रमों में शामिल होने से उनका ध्यान भटकना तय है। इससे मंत्री के तौर पर उनके प्रदर्शन पर भी विपरीत असर पड़ेगा।’

गौरतलब है कि पंजाब में स्थानीय प्रशासन, पर्यटन एवं संस्कृति, आर्काइव्स एवं म्यूज़ियम जैसे मंत्रालय संभाल रहे सिद्धू ने पिछले महीने मंत्री बनते ही कहा था कि वे कपिल शर्मा के शो में काम करना जारी रखेंगे। तब भी इस मामले में काफी विवाद हुआ था। इसके बाद मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को इस मामले में पंजाब के महाधिवक्ता अतुल नंदा से राय लेनी पड़ी थी। उनसे हरी झंडी मिलने के बाद ही सिद्धू को इस कार्यक्रम की शूटिंग में हिस्सा लेने की इजाजत दी गई थी। लेकिन लगता है, यह मामला इतनी जल्दी ठंडा पड़ने वाला नहीं है।

[email protected]