BREAKING NEWS
Search
Damage home

अमेरिकी हमले से आईएस के जहरीले गैस डिपो को नुकसान, सैकड़ों लोगों की मौत

192

सीरियाई सेना ने इस घटना को इस्लामिक स्टेट और अल कायदा के आतंकियों के पास रासायनिक हथियार होने का सबूत बताया है…

शबाब ख़ान,

नई दिल्ली। सीरिया की सेना ने अब अमेरिका को सीरिया में जहरीली गैसों से सैकड़ों लोगों की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया है। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार उसने आरोप लगाया है कि बुधवार को अमेरिका के नेतृत्व वाले गठबंधन द्वारा पूर्वी देर अल-जोर प्रांत में किए गए हवाई हमले में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के जहरीले गैस भंडार को नुकसान पहुंचा और इससे निकली गैसों की चपेट में आकर आम नागरिकों सहित सैकड़ों लोग मारे गए।

सीरियाई सेना ने इस घटना को आतंकी संगठनों के पास रासायनिक हथियार होने का सबूत बताया है। सरकारी न्यूज चैनल प्रसारित बयान में सीरियाई सेना ने कहा है कि इस घटना से इस्लामिक स्टेट और अल कायदा से जुड़े आतंकियों के पास रासायनिक हथियार होने की बात साबित होती है। हालांकि, सीरियाई सेना के इस दावे की अन्य स्रोतों से पुष्टि नहीं हो पाई है।

बीते हफ्ते सीरिया के इदलिब प्रांत में जहरीली गैस से 31 बच्चों सहित 87 लोगों की मौत के बाद राष्ट्रपति बशर अल-असद की सरकार पर रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल का आरोप लगा था। इसके अगले दिन अमेरिका ने सीरिया के एक हवाई अड्डे को निशाना बनाकर क्रूज मिसाइलें दागी थीं। हालांकि, असद सरकार और उसके प्रमुख सहयोगी रूस ने इन आरोपों को खारिज कर दिया था। रूस का यह भी कहना था कि इदलिब की घटना के लिए विद्रोहियों के पास मौजूद जहरीली गैस जिम्मेदार है।