Mamata Banerjee Chief Minister of West Bengal

हाईकोर्ट नें मेरा दिल दुखाया है, मां सबकुछ देख रहीं हैं: ममता बनर्जी

183

”गहरा दुख होता है, और जब मुझे चोट लगती है तो मैं अपने दुख को आम लोगों के साथ साझा करना चाहता हूं।”

मुख्यमंत्री ने बंगाल के खिलाफ केंद्र की नफ़रत की राजनीति करनें और साज़िश का तीखा आरोप भी लगाया है।

कलकत्ता हाईकोर्ट ने कल मुहर्रम के दौरान दुर्गा मूर्ति विसर्जन पर लगाया गया प्रतिबंध रद्द कर दिया था।

मुहर्रम के दिन भी होगा दुर्गा मूर्ति विसर्जन, कलकत्ता हाईकोर्ट ने बंगाल सरकार को दिया कुछ ऐसा आदेश

कलकत्ता हाईकोर्ट ने ममता बनर्जी को दिया बड़ा झटका। हाईकोर्ट नें कहा कि विसर्जन पर पाबंदी आखिरी विकल्प के रूप में हो…

Shabab Khan

शबाब ख़ान (वरिष्ठ पत्रकार)

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन को लेकर चल रहे गहमा-गहमी के बीच विवाद पर आज कलकत्ता हाईकोर्ट के कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ने ममता बनर्जी सरकार को फटकार लगाई है। कोर्ट ने मुहर्रम समेत हर दिन सुबह 12 बजे तक मूर्ति विसर्जन की अनुमति दे दी है। इतना ही नहीं पुलिस को विसर्जन के मार्ग को सुनिश्चित करने भी को कहा गया है।

फ़ैसला सुनाने के दौरान हाईकोर्ट ने ममता सरकार को और क्या कहा…

1) कोर्ट ने कहा कि “सिर्फ इसलिए कि आप राज्य हैं तो आप मनमाने ढंग से आदेश पारित कर सकते हैं?”

2) कोर्ट ने कहा कि नियमन और निषेध के बीच अंतर होता है।

3) हाईकोर्ट के कार्यकारी चीफ जस्टिस ने पश्चिम बंगाल सरकार से कहा कि यदि आप सपने देखते हैं, तो कुछ गलत हो सकता है। पर ऐसा नहीं हो सकता है कि आप उस पर प्रतिबंध लगा दें।

4) कोर्ट ने कहा, क्या आप चंद्रमा को नियंत्रित कर सकते हैं।

5) कोर्ट ने राज्य सरकार को कहा, पहले पानी फिर लाठीचार्ज हो।

6) कोर्ट ने कहा कि क्या कैलेंडर को रोक सकते हैं।

7) कोर्ट ने ममता सरकार से कहा कि विसर्जन पर पाबंदी आखिरी विकल्प होना चाहिए।

8) बिना किसी आधार के ताकत का इस्तेमाल ग़लत है। आखिरी विकल्प का फैसला सबसे बाद में करना चाहिए।

–सहयोगी ताबिश अहमद के साथ