BREAKING NEWS
Search
हत्या

प्रतापगढ़ में दो सगे व्यापारी भाइयों की हत्या के बाद अभी भी तनाव, 12 घंटे से सड़क जाम

430

मृतक व्यापारियों की पत्नियों की मांग– हत्यारों को हमारे सामने लाया जाये, उन्हे हम गोली मारेगें…

Yuvraj SIngh

युवराज सिंह

 

 

 

 

 

 

प्रतापगढ़: जिले में कल रात दो सगे भाइयों की हत्या के विरोध में अभी भी जिले में माहौल तनावपूर्ण है। कौहड़ौर बाजार में इन व्यापारी भाइयों की हत्या के विरोध में लोगों ने सुबह से ही सड़क जाम कर दी है। यह सभी लोग मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बुलाने की मांग पर अड़े हैं। डीएम के साथ ही एसपी भी मौके पर हैं।

प्रतापगढ़ में कल रात सगे व्यापारी भाइयों की हत्या के विरोध में लोग काफी आक्रोशित हैं। यहां पर लोगों ने रात भर काफी हंगामा किया। इसके बाद आज सुबह से ही सड़क पर जाम लगा दिया है। कोहड़ौर बाजार में दो सगे व्यापारी भाइयों श्याम मूरत एवं श्याम सुंदर की कल रात दुकान के भीतर गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इसके आठ घंटे के बाद भी उन बदमाशों का कोई पता न चलने पर लोग काफी आक्रोशित हैं।

घटना के विरोध में रात भर व्यापारी व घर वाले जाम लगाए हैं। कोहड़ौर बाजार में 11:30 घंटे से रोड जाम ना हटने पर पुलिस की टीम गाडिय़ों को रुट डायवर्ट करके मदाफरपुर रोड से किशनगंज बाजार होते हुए चिलबिला से निकाल रहे हैं। कोहड़ौर बाजार में जाम लगाये लोगों की मांग है कि यहां और किसी को नहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भेजे। तभी यहां पर सड़क जाम खुलेगा।

बुधवार को रात में ही कोहडौर बाजार पहुंचे आईजी रमित शर्मा व सदर विधायक संगम लाल गुप्ता जाम समाप्त कराने के लिए तीन बजे रात तक बहाते रहे पसीना, लेकिन व्यापारी जाम समाप्त करने को तैयार नहीं हुए। यहां पर लोग सीएम योगी आदित्यनाथ को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े हैं। आज सुबह पौने आठ बजे आइजी रमित शर्मा फिर थाने पहुंचे हैं। मौके पर कई थानों की फोर्स तैनात है। अब पुलिस को पोस्टमार्टम के बाद दोनों के शव लाए जाने का इंतजार है। आइजी रमित शर्मा के साथ डीएम शम्भू कुमार भी मौके पर जाम समाप्त कराने के लिए लोगों से मंत्रणा कर रहे हैं।

डीएम शम्भू कुमार के पहुंचने पर आक्रोशित महिलाएं, व्यापार मंडल, बाजार के लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाए। घर की महिलाओं ने जान के बदले जान मांगने की मांग रखी व मुख्यमंत्री की आने की। डीएम से पूछा कि 13 घंटे बीतने के बाद पुलिस प्रशासन ने क्या किया है। मृतक श्याम सुन्दर व श्याम मूरत की पत्नियां गीता और ऊषा बोली जान के बदले जान चाहिए। अपराधी मेरे सामने लाया जाय। उसे गोली मैं मारूँगी।