BREAKING NEWS
Search
ओ०पी० सिंह

यूपी डीजीपी पहुँचे बनारस, अधिकारियों संग की मीटिंग, मीडिया से हुये मुखातिब

424

बनारस से शुरुअात करते हुये डीजीपी नें बताया कि वो उत्तरप्रदेश के हर जिले का दौरा करेगें…

दयानंद तिवारी

दयानंद तिवारी

 

 

 

 

 

 

वाराणसी: उत्‍तर प्रदेश के पुलिस मुखिया (डीजीपी) ओम प्रकाश सिंह रविवार सुबह वाराणसी पहुंचे। बाबतपुर एयरपोर्ट पर डीजीपी का स्‍वागत वाराणसी के वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारियों ने किया। इसके बाद सीधे पुलिस लाइन पहुंचे डीजीपी को पुलिसकर्मियों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया।पुलिस लाइन में ही वाराणसी की मेयर मृदुला जायसवाल सहित जन प्रतिनिधियों ने भी डायरेक्‍टर जनरल ऑफ पुलिस (डीजीपी) ओम प्रकाश सिंह से शिष्‍टाचार भेंट किया। इस दौरान उन्‍होंने पुलिस लाइन सभागार में वाराणसी जोन के पुलिस अधिकारियों संग बैठक की जिसमें कानून व्‍यवस्‍था की समीक्षा की गयी।

बैठक में वाराणसी जोन के एडीजी पीवी रामाशास्‍त्री सहित वाराणसी रेंज के आईजी दीपक रतन, मीरजापुर व आजमगढ़ रेंज के आईजी, जोन के सभी जिलों के पुलिस कप्‍तान, वाराणसी जिले के सभी गजटेड अफसर व थाना प्रभारी मौजूद रहे।

डीजीपी

Red Carpet Welcome of UP DGP Om Prakash Singh on his Varanasi arrival…

सर्किट हाउस में कुछ देर विश्राम करने के बाद डीजीपी ने 11 बजे आयुक्त सभागार में वाराणसी सहित अन्य जनपदों के मौजूद पुलिस अधिकारियों संग बैठक शुरू किया। डीजीपी ने पीएम मोदी के मन की बात सुनी। अधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद श्री सिंह ने सभागार में लिंग संवेदीकरण कार्यशाला का उद्घाटन किया।

शाम को श्री ओ०पी० सिंह बनारस के भैंसासुर घाट पहुँचे, यहां से नौका विहार करते हुये वो दशाश्वामेध घाट पहुँचे।

डीजीपी ओपी सिंह ने रविवार को कहाकि पुलिस अपराधियों की सिर्फ गिरफ्तारी ही नहीं उनके खिलाफ कोर्ट में मजबूत पैरवी भी करेगी। महिलाओं, बच्चियों के अलावा गंभीर अपराध में मुकदमा फास्ट ट्रैक कोर्ट में चले। इसके लिए वह न्यायालय से अनुरोध करेंगे।

प्रेस

UP DGP during Press Conference today in Varanasi…

पुलिस लाइन स्थित संगोष्ठी सदन में डीजीपी ने पत्रकारों से बातचीत में कहाकि महिलाओं, बच्चियों के खिलाफ अपराध में त्वरित कार्रवाई के लिए हेल्पलाइन 1090 को एंटी रोमिया स्क्वायड और डायल 100 से जोड़ेंगे। पर्यटकों की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय स्तर पर यातायात पुलिस की टीमों का गठन हो रहा है। फिलहाल मॉडल के रूप में बनारस और आगरा में इसे शुरू किया जाएगा।

डीजीपी ने कहा कि भू माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई हो रही है। गैंगस्टर के तहत प्रदेश में 198 करोड़ की सम्पत्ति जब्त की गयी है। 14 हजार से अधिक गैंगस्टर के मामलों में से 13 हजार के अधिक अपराधी पकड़े जा चुके हैं। संसाधनों की कमी के बावजूद कानून-व्यवस्था की हालत में काफी सुधार हुआ है। एक साल में अपराध घटे हैं और कहीं भी साम्प्रदायिक दंगे नहीं हुए। यातायात व्यवस्था में सुधार की जरूरत है। इसके लिए पुलिस और परिवहन शाखा संयुक्त रूप से अभियान चलाएगी।

जिला जेल में मोबाइल बरामदगी के मामले में डीजीपी ने कहा कि इस मामले में पुलिस व जेल प्रशासन मिलकर काम कर रहा है। इसके नतीजे शीघ्र सामने आएंगे। पुलिस के पास जमीन के ज्यादा मामले आते हैं जो विभाग से जुड़े नहीं होते हैं। श्रावस्ती मंडल में ऐसे अपराधों पर अंकुश के लिए कार्रवाई की जा रही है। इसे अन्य जिलों में भी लागू करेंगे।

डीजीपी ओपी सिंह ने कहाकि अभिभावक बच्चों को पुलिस के प्रति न डराएं। ऐसा न कहें कि यह न करो वर्ना पुलिस पकड़ लेगी। इससे पुलिस के प्रति बच्चों में नकारत्मक छवि बनती है। सोशल पुलिसिंग पर ध्यान दिया जा रहा है ताकि लोगों का पुलिस के प्रति भय समाप्त हो और वे अपनी बात खुलकर रख सकें। आपरेशन मुस्कान लोगों में पुलिस के प्रति भरोसा बढ़ाने का जरिया है।