Madarsa

मदरसों पर लगी योगी की बंदिशें, सरकार तय करेगी मदरसे की छुट्टियाँ

276

योगी का फ़रमान, दूसरे धर्मों के त्योहारों पर भी छुट्टियाँ करे मदरसे

-लाल भदुरिया


लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के मदरसों के लिए नया दिशा निर्देश जारी किया है। सभी सरकारी अनुदान प्राप्त मदरसों के लिए यह दिशा निर्देश मानना आवश्यक है। सरकार की ओर से मदरसों के लिए अवकाश का नया कैलेंडर जारी किया गया है। मंगलवार को योगी सरकार ने आदेश दिया है कि दूसरे धर्मों के त्योहारों पर भी मदरसों को बंद रखा जाए।

इससे पहले योगी सरकार ने मदरसों में राष्ट्रगान गाने को अनिवार्य कर दिया था, साथ ही स्वतंत्रता दिवस के दिन पूरे कार्यक्रम की वीडियो रिकॉर्डिंग करवाने का भी आदेश दिया था।

मंगलवार को योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश के मदरसों के लिए छुट्टियों का नया कैलेंडर जारी किया। इस कैलेंडर के मुताबिक मदरसों के अधिकार में आने वाली छुट्टियों को कम कर दिया गया है। अब इसमें दूसरे धर्मों के त्यौहारों पर होने वाली छुट्टियों को शामिल किया गया है।

मुहर्रम और ईद की छुट्टियों की संख्या घटाई गई है, जबकि दीपावली और होली की छुट्टियां जोड़ी गई है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के मदरसे अमूमन होली और अंबेडकर जयंती को छोड़कर मुस्लिम त्योहारों में ही बंद रहते थे।

छुट्टी के इस नए कलेंडर में मदरसे में भी महावीर जयंती, बुद्ध पूर्णिमा, रक्षा बंधन, राम नवमी, दिवाली, दशहरा और क्रिसमस को अवकाश घोषित किया गया है। नए कैलेंडर में जहां 7 नई छुट्टियां जोड़ी गईं है वहीं मदरसों के अधिकार में रहने वाली 10 छुट्टियों को घटाकर 4 कर दिया गया है। इनमें ईद-उल- जुहा और मुहर्रम भी शामिल हैं।

उत्तर प्रदेश के मदरसा अधिकारी इस फरमान से खुश नहीं हैं। इस्लामिक मदरसा टीचर्स एसोशिएशन के अध्यक्ष एजाज अहमद ने कहा कि अन्य धर्मों के त्योहारों पर छुट्टी देने का फैसला ठीक है, लेकिन हमारे अधिकार वाली 10 छुट्टियों को कम करना ठीक नहीं।