BREAKING NEWS
Search
Akhilesh Yadav and Shivpal Yadav

हार के पश्चात चाचा भतीजा एक

390

मीनाक्षी मिश्रा,

लखनऊ। विदित हो कि विधानसभा चुनाव से पहले चाचा भतीजा में जबर्दस्त रार देखने को मिली थी। परंतु लगता है कि हार के पश्चात चाचा भतीजा एक मत होते नज़र आ रहे हैं। सपा सरकार में चुनाव से पहले शियासी घमासान देखने को मिला था। चाचा शिवपाल व भतीजा अखिलेश को लेकर पार्टी दो फाड़ हो चुकी थी। यहाँ तक की दोनों ने अलग अलग चुनावी लिस्ट भी जारी की थी। किन्तु जनता द्वारा दी गयी चोट को मद्देनजर रखते हुए लगता है कि चाचा भतीजा समस्त मतभेद भुलाकर एक साथ आ रहे हैं।

दरअसल विधानसभा चुनाव में मिली करारी शिकस्त के पश्चात शिवपाल यादव और अखिलेश यादव की पहली मुलाकात समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर गुरुवार को हुई। बताया जा रहा कि बंद कमरे में हुई इस बैठक में आजम खान भी मौजूद रहे।


सूत्रों के अनुसार बैठक में सपा विधान मंडल दल के नेता उपनेता और सचेतक के नाम पर चर्चा की गयी। वही मीडिया में चल रही सुगबुगाहट के अनुसार आजम खान सपा विधान मंडल दल के नेता हो सकते हैं। साथ ही आजम के अलावा रामगोविंद चौधरी का भी नाम इस रेस में शामिल है। जबिक यह भी चर्चा है कि अखिलेश यादव विधान परिषद के नेता विपक्ष हो सकते हैं।

वही मीटिंग के पश्चात सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि शिवपाल, अखिलेश और आजम ने जीते हुए विधायकों की बधाई दी। साथ ही बताया कि नेता प्रतिपक्ष का चयन जल्द ही किया जायेगा। ज्ञातब्य हो कि विधानसभा चुनावों में मोदी लहर के मध्य सपा को 47 सीटें मिली हैं। जबकि बसपा को चुनाव में 19 सीटें हासिल हुई हैं।