BREAKING NEWS
Search
Kanpur hadsa

लापरवाही से हुआ बड़ा हादसा, अमोनिया का रिसाव जारी

358
Abhay Awasthi

अभय अवस्थी

कानपुर के शिवराजपुर इलाके में बुधवार को कटियार कोल्ड स्टोरेज की बिल्डिंग तेज धमाके के साथ गिर गई। इसके बाद से अमोनिया का रिसाव लगातार जारी है। कोल्ड स्टोरेज में दो नए चेंबर बनाए गए थे, अमोनिया सिलेंडर फटने से यह दर्दनाक हादसा हुआ है। मौजूदा समय में लोडिंग का काम जारी था। स्टोर के मालिक ने पैदावार अधिक होने से क्षमता से अधिक आलू स्टोर किया था।

खेत में काम कर रहे लोगों का कहना है, तेज धमाके से कोल्ड स्टोर की बिल्डिंग गिरी जिसके बाद भगदड़ मच गई। लोग मौके मदद करने के लिए दौड़े, लेकिन अमोनिया गैस के तेज रिसाव के चलते कोई नजदीक नहीं पहुंच पाया। लोगों ने बताया पास जाने पर आंखों में तेज जलन और सांस लेने में दिक्कत हो रही है।


कानपुर के शिवराजपुर के पास हुए इस भीषण हादसे के दौरान कोल्ड स्टोरेज के मलबे में दबे लोगों को बाहर निकालने के लिए फायर ब्रिगेड की टीमें बुला ली गई हैं। इसके अलावा जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. रामायण प्रसाद यादव भी पहुंच चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमें घायलों का इलाज ऑनस्पॉट कर रही हैं। गंभीर रूप से घायलों को पास के स्वास्थ्य केंद्र और हैलट अस्पताल ले जाया जा रहा है।


कटियार कोल्ड स्टोरेज बिल्डिंग गिरने के बाद वहां 100 से ज्यादा लोगों के दबे होने की संभावना जताई जा रही है। बचाव कार्य जारी है। बिल्डिंग आखिर कैसे और क्यों गिरी इसका जवाब अभी तक किसी के पास भी नहीं है। दुर्घटनाक के बाद जीटी रोड पर भी भीषण जाम लगा हुआ है। मलबे के अंदर से बिहार निवासी एक मजदूर को जिंदा बाहर निकाला जा चुका है। अमोनिया के रिसाव को बंद करने के लिए एक्सपर्ट्स की टीमें बुलाई गई हैं। करीब एक महीने पहले भी इसी कोल्ड स्टोरेज में अमोनिया रिसाव की घटना हो चुकी है।

विडियो देखें…

https://www.youtube.com/watch?v=ilaItZpBZcs


मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकालने में देरी की वजह से उनके परिजनों के साथ गांववालों ने हंगामा काटना शुरू कर दिया है। अभी तक किसी भी मौत की सूचना नहीं आई है। घायलों को जिला चिकित्सालय या स्वास्थ्य केंद्र में भेजा जा रहा है। आक्रोशित लोगों को शांत कराने के लिए जनप्रतिनिधि भी पहुंच रहे हैं।


अमोनिया का रिसाव लगातार जारी है। अमोनिया गैस शिवराजपुर के अलावा मणिपालपुर, हरपालपुर, कुर्सीनिवादा, शाहनिवादा समेत तमाम गांवों में तेजी से फैल रही है। बिल्डिंग के मलबे में दबे 100 से ज्यादा लोगों को बाहर निकालने के लिए क्षेत्रीय लोगों के अलावा पुलिस और सेना की मदद भी ली जा रही है। अमोनिया के नुकसान से बचाने के लिए लोगों के लिए मास्क का बंदोबस्त जिला प्रशासन कर रहा है। कानपुर के हैलट अस्पताल से 45 मास्क के साथ ऑक्सीजन सिलेन्डर घटना स्थल पर भेजे जा रहे हैं। जिला प्रशासन की ओर से डॉक्टरों की स्पेशल टीम शिवराजपुर पहुंच रही है।