BREAKING NEWS
Search
UP Police

कानून व्यवस्था ताक पर, नहीं हुई अभियुक्त की गिरफ्तारी

349
Share this news...

मीनाक्षी मिश्रा,

लखनऊ/मलिहाबाद: वैसे तो बच्चों को देश की धरोहर कहा जाता है। किन्तु बदलते सामाजिक परिवेश व दूषित मानसिकता को मद्देनजर रखते हुए कहा जा सकता है कि बच्चों का बचपना छिनता जा रहा है व बच्चों के साथ घटित होने वाले अपराधों की संख्या बढ़ती जा रही है। ऐसे मे बच्चे पुलिसिया तंत्र से न्याय की आस मे दर दर भटक रहे हैं । तो देश का भविष्य किस गर्त में जा रहा कह पाना मुश्किल है।

योगी सरकार ने सत्ता मे आते ही कानून व्यवस्था सुधरने के लिए ताबड़तोड़ तबादले किये। किन्तु पुलिसिया रवैया जस का तस बना हुआ है। पीड़ित दर बदर भटकने को मजबूर है। मामला थाना मलिहाबाद लखनऊ का है। जहाँ पर एक पीड़ित आठ वर्षीय बालक के साथ गाँव के ही तीन दबंग युवकों ने 15 अप्रैल 2017 को दुराचार किया।

जिसके 2 दिन पश्चात पुलिस ने बनती धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। किन्तु आरोपी यूसुफ पुत्र गुड्डू, फहीम पुत्र निजामुद्दीन व सलमान पुत्र हनीफ खुलेआम घूम रहे। पाक्सो एक्ट व एससीएसटी के तहत मुकदमा दर्ज होने के बावजूद गंभीर मामले में पुलिस ने अभी तक गिरफ्तारी नही की है।

वहीं आरोपी पीड़ित के जान माल के लिये खतरा बने हुए हैं और लगातार पीड़ित पर मुकदमा वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। ऐसे में सोचनीय बात है कि अपना व देश का भविष्य सँवारने की उम्र में बच्चे अपनी जान बचाने के लिये न्याय की बाट जोह रहे हैं।

[email protected]

Share this news...