BREAKING NEWS
Search
Twitter comment by the police

यादव पुलिसवालों पर ट्विट करने वाले आईपीएस अधिकारी पर गिरी गाज, निलंबित

259
Share this news...
Shabab Khan

शबाब ख़ान

लखनऊ: योगी सरकार बनने के बाद पुलिस महकमे पर सवाल उठाने वाले उत्तर प्रदेश के आईपीएस ऑफिसर हिमांशु कुमार को निलंबित कर दिया गया है। तीन दिन पहले हिमांशु कुमार ने ट्विट करके दावा किया था कि योगी सरकार बनने के बाद यूपी में यादव सरनेम वाले पुलिसकर्मियों के तबादले की होड़ लग गई है। अब कार्रवाई के बाद भी उन्होंने ट्वीट किया है और लिखा है कि ‘सत्य की जीत होती है।’

लखनऊ में पुलिस मुख्यालय में तैनात आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार ने ट्विट करके लिखा था कि योगी सरकार बनते ही ‘यादव सरनेम वाले पुलिसकर्मियों को सस्पेंड या रिजर्व लाइन में भेजने की होड़ लग गई है।’ हालांकि विवाद के बाद आईपीएस ने ट्वीट हटा दिया था। लेकिन, इस ट्वीट के बाद विभाग में हड़कंप मच गया था।

दूसरा ट्वीट कर लिखा कि मेरे ट्वीट को गलत समझा गया है।

हालांकि बाद में हिमांशु कुमार ने दूसरा ट्वीट कर लिखा कि मेरे ट्वीट को गलत समझा गया है, मैं सरकार के इस कदम का समर्थन करता हूं।’ आपको बता दें कि हिमाशुं कुमार 2010 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। इससे पहले वह फिरोजाबाद में एसपी थे।

ट्वीट के बाद राजनीति तेज हुई थी।

आईपीएस अधिकारी हिमांशु कुमार के ट्वीट के बाद समाजवादी पार्टी ने इस पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया दी थी। सपा नेता उदयवीर सिंह ने कहा था कि उनका मानना है कि सरकार संविधान से चलती है, कानून से चलती है। कानून का राज होना चाहिए। सरकार और अधिकारी दोनों को कानून का निष्ठवान होना चाहिए।

इसके साथ ही सपा नेता ने कहा था कि अगर ये आरोप सच है और सरकार कानून के दायरे में काम नहीं कर रही है और अन्याय कर रही है तो लोकतंत्र में वो इस मुद्दो को उचित फोरम पर उठाएंगे और इसका राजनीतिक जवाब देंगे।

Share this news...