BREAKING NEWS
Search

नगरपालिका के पक्षपाती रवैये से आहत पार्षद नें राष्ट्रपति से मांगा इच्छामृत्यु

315
Shabab Khan

शबाब ख़ान

वाराणसी: नगरपालिका के पक्षपाती रवैये से क्षुब्ध वाराणसी के वार्ड संख्या 86 के पार्षद श्री रमज़ान अली नें पालिका को 10 दिनों में अपनी मांगों के पूरा न होने की स्थिति में अमरण अनशन पर बैठनें की चेतावनी दे डाली है। जिसके बाबत उन्होनें देश के राष्ट्रपति महामहिम प्रणव मुखर्जी को भी पत्र लिखकर जानकरी दे दी है।

अपने पत्र में पार्षद रमज़ान अली नें महामहिम से कहा है कि क्षेत्र की जनता ने उन्हें अपने वोट देकर जिताया ताकि वह अपनें वार्ड का विकास करा सकें। लेकिन नगरपालिका के पक्षपात से वो जनता के लिए साफ पेयजल तक मुहैया कराने में असमर्थ हैं। जब जनता उनसे सवाल पूछती है तो वो शर्मसार हो जाते हैं, ऐसे में या तो उनको अपने क्षेत्र के विकास कार्य करवानें के लिए उचित संसाधन मुहैया कराया जाए या उन्हे इच्छामृत्यु की इजाज़त दी जाए।

उन्‍होंने कहा कि आज की तारीख से ठीक 10 दिन बाद यदि उनकी नौ सूत्रीय मांगों को नही माना गया तो वह नगर निगम वाराणसी मुख्यालय पर जनहित मे अन्न-जल त्याग कर अनशन पर बैठ जाएगें, जिसकी जिम्मेदारी नगर निगम प्रशासन की होगी।

नगरपालिका प्रशासन एवं महामहिम राष्ट्रपति महोदय को लिखे पत्र में पार्षद रमज़ान अली नें अपने वार्ड नंबर 86 के विकास के लिए जो मांगें रखी है उनका ब्योरा इस प्रकार है।

Gallery with ID 1 doesn't exist.

1. वार्ड-86 काजी सादुल्ला पुरा वाराणसी मे पीने के पानी की घोर किल्लत है। जिसके निस्तारण के लिए तीन मिनी ट्यूबवेल क्रमशः जे14/35, जे14/135 काजी सादुल्ला पुरा तथा ख्वाजापुरा के मैदान मे लगाये जाए।

2. जे14/56 से जे14/162, जे14/13 से जे14/56 तथा जे14/117 से जे14/128 काजी सादुल्ला पुरा वाराणसी मे 50 वर्ष पूर्व लगी 6 इंच सीवर लाइन को बदल कर 9 इंच नयी सीवर लाइन तथा गली की रिसेटिंग कराई जाए।

3. जे14/56-ई-क-1 तथा जे14/93 चौकाघाट वाराणसी की गली के सीवर लाइन का मेन सीवर लाइन जीटी रोड से जोड़ा जाए।

4. संजय गांधी नगर कॉटन मिल कालोनी चौकाघाट वाराणसी की ध्वस्त सड़के आये दिन दुर्घटनाओं का कारण बनती है, उन सड़कों को अतिशीघ्र बनवाया जाए।

5. वार्ड 86 के बहुत सारे स्थानो पर प्रकाश की व्यवस्था अभी तक नही कराई गई है, ऐसे बीस स्थानों पर एलईडी लाइट लगवाई जाए।

6. छवि महल सिनेमा हाल के पास स्थित नाले को कवर कराया जाए।

7. वार्ड की बहुत सारी गलियां वर्षों से ध्वस्त हैं जिसक पुनर्निमाण कराया जाए।

8. वार्ड मे सफाईकर्मियो से दस्तूरी (रिश्वत) लेने के लिए इंस्पेक्टर, सुपरवाईज़र उन्हे अनावश्यक रूप से घर बैठा देते है। जिसके एवज़ मे 2000 तक की वसूली सफाईकर्मियो से की जाती है। जिससे वार्ड की सफाई व्यवस्था ध्वस्त हो चुकी है। सफाई कर्मियो के इन आरोपो की जांच करा कर उचित कानूनी कार्यवाई कराई जाए।

9. बेसिक प्राइमरी पाठशाला माता प्रसाद काजी सादुल्ला पुरा वाराणसी मे बच्चो के बैठने के लिए बोरे के स्थान पर बेंच डेस्क की व्यवस्था हो। पाठशाला भवन की रिपेयर के साथ ही इंटरलाकिंग ईटों से प्रागंण का पक्का फर्श बनवाया जाए।

उपरोक्त बिन्दुओं पर अविलम्ब कार्यवाही का अनुरोध करते हुए पार्षद नें कहा है कि अन्यथा की स्थिति मे प्रार्थी को इच्छा मृत्यु का आदेश दे दिया जाये। उन्होने तर्क दिया कि ‘यदि मै जनप्रतिनिधि होते हुए जनता का कार्य न करा सकूं तो मुझे जीने का कोई अधिकार नही है। बल्कि इच्छा मृत्यु के रुप मे मुझे भारत की सीमा की सुरक्षा के लिए भेज दिया जाये, जहॉं मैं अपनी जीवन को देश की सेवा मे समर्पित कर सकुँ। मेरे परिवार व बच्चो की जिम्मेदारी केन्द्र सरकार की होगी।’

यह सोचने का विषय है कि एक ओर जहॉं नगरपालिका का सभासदी चुनाव अधिकतर उम्मीदवार सिर्फ अपनी जेबें भरनें व भविष्य की राजनीति चमकानें के मद्देनजर करते हैं, वही वाराणसी नगरपालिका के वार्ड संख्या 86 का पार्षद अपनें क्षेत्र के विकास के लिए जान तक देने पर आमादा है। जनता को ऐसे युवा नेता का साथ उसके कंधे से कंधा मिलाकर देना चाहिए।

shabab@janmanchnews.com