BREAKING NEWS
Search

छात्रा के साथ छेड़छाड़ में डॉक्टर निलंबित, बीएचयु का मामला

403
Share this news...

फ़रहान हैदर,

वाराणसी। बीएचयू के डॉ अनुराग को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए ससपेंड कर दिया गया है। उनके ऊपर एक मेडिकल छात्रा के साथ कथित रूप से छेड़खानी करने का आरोप लगा हुआ था। इसलिए एडमिनिस्ट्रेशन ने मेडिकल स्टूडेंट के साथ छेड़खानी के मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी  डॉ अनुराग को कुछ दिनों के लिए काम करने से रोक दिया है।

वैसे यह मामला कोर्ट में चल रहा है। इधर, यूनिवर्सिटी की ओर से गठित कमेटियों की रिपोर्ट आने के बाद प्रशासन अगला कदम उठाएगा। प्रशासन की कार्रवाई से पीड़िता को न्याय मिलने की आस जग रही है।

आपको बता दें की मेडिकल छात्रा से छेड़खानी के मामले में गठित कमेटी ने शनिवार को पीड़िता का बयान दर्ज किया। इस कमेटी की चेयरपरसन प्रो संगीता कंसल व डॉ संतोष कुमार सिंह, डॉ हरि शंकर को मेंबर बनाया गया है। शनिवार को प्रो संगीता ने पीड़िता से छेड़खानी के विषय में गंभीरता से बात सुनी।

पीड़िता आईएमएस के सर्जरी डिपार्टमेंट में इंटर्नशिप डिपार्टमेंट की छात्रा हैं। उन्होंने एसआर डॉ अनुराग पर छेड़खानी का आरोप लगाते हुए प्रशासन के अलावा लंका थाने में केस दर्ज कराया था। इस मामले में पुलिस और प्रशासन ने अपने- अपने स्तर से कार्रवाई शुरू की। आरोपी ने पीड़िता को देख लेने की धमकी भी दे डाली थी। उसके बाद पीड़िता डर की वजह से पढ़ाई छोड़कर घर बैठ गयी। बाद में वीसी प्रो गिरीश चंद्र त्रिपाठी व एसएसपी नितिन तिवारी के आश्वासन पर लौटी।

छात्रा की मांग थी कि आरोपी के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई हो। इसको संज्ञान में लेते हुए वीसी ने आईएमएस के डायरेक्टर प्रो वीके शुक्ला सहित कई अधिकारियों को शुक्रवार को ही बुलाकर मामले को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए। जिसके बाद शुक्रवार की रात से ही कार्रवाई की प्रक्रिया तेज हो गई थी। शनिवार को फिलहाल विभागीय स्तर पर दोषी मानते हुए आरोपी को कुछ दिनों के लिए निलंबित कर दिया गया।

 

Share this news...

TAG