BREAKING NEWS
Search
Jewellery shop looted

चौक थाने से पच्चीस कदम की दूरी पर 10 करोड़ की दिनदहाड़े डकैती

500
Share this news...

हथियारों से लैस डकैतो ने कोई सुराग नही छोड़ा। ठठेरी बाजार में घटना से आक्रोशित कारोबारियों किया चक्का जाम…

शबाब ख़ान,

वाराणसी: पुलिस प्रशासन के नाक के नीचे दिनदहाड़े इतनी बड़ी घटना को सफलतापूर्वक अंजाम देकर डकैतो नें पुलिस के इकबाल को खुली चुनौती दे डाली है।

शहर के सबसे व्यस्त इलाके में शनिवार को सराफा की दुकान से करोड़ो रूपये के आभुषणों पर हाथ साफ कर दिया। तीसरे पहर करीब साढ़े चार बजे ठठेरी बाजार मोड़पर स्थित इस सराफा प्रतिष्ठान में घुसे आधा दर्जन डकैतो नें असलहों के दम पर महज दस मिनट में इस घटना को अंजाम दे दिया। प्रतिष्ठान सीताराम ज्वेलर्स के संचालक संजय अग्रवाल के साथ दो कर्मचारियों को बंधक बनाने व तिजोरी और शो केस में रखा सारा माल समेटने के बाद डकैत आराम से फरार भी हो गये। कोढ़ में खाज यह है कि चौक थाना घटनास्थल से महज 25 कदम दूर है।

डकैती गए माल की कीमत को लेकर पहले तो साराफा कारोबारी दावा किया कि करीब दस करोड़ के स्वर्ण आभुषण डकैत ले गए हैं। हालांकि सभी मिलान करने के बाद देर रात पुलिस को दी गई तहरीर में संजा अग्रवाल नें जानकारी दी कि कुल 12 किलो सोने के आभुषण डकैतो के हाथ लगे हैं। पुलिस नें इस मामले में अज्ञात डकैतो के खिलाफ मुकदमा पंजिकृत कर लिया है। जानकारों के अनुसार बीच शहर दिनदहाड़े हुई यह बनारस की अब तक की सबसे बड़ी डकैती है।

डकैतो ने साक्ष्य मिटाने के लिए वहॉ लगे सीसीटीवी कैमरे के साथ ही रिकार्डिग करने वाले डीवीआर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। बाद में कर्मचारियों द्वारा शोक मचानें पर आसपास के लोगो के घटना का पता चला। करोड़ों की डकैती की जानकरी मिलते ही पुलिस के होश उड़ गए। आनन-फानन में राज्यमंत्री नीलकंठ तिवारी, आईजोन एन रविंदर, प्रभारी एसएसपी आशीष तिवारी, एसपी क्राइम त्रिभुवन सिंह, एसपी सिटी राजेश यादव के अलावा एसटीएफ व क्राइम ब्रॉच की टीमें भी मौके पर पहुँची।

उधर घटना से आक्रोशित व्यापारियों ने ठठेरी बाजार के सामने सड़क पर जाम लगा दिया, हालांकि आला अधिकारियों के समझा नें पर कारोबारियों नें जाम समाप्त कर दिया।

आरंभिक सूचना के मुताबिक दुकान पर शुक्रवार को भी दो संदिग्ध व्यक्ति रेकी करने आये थे। बहरहाल, डकैतो के निकल जाने के बाद संजय और कर्मचारियों नें बाहर निकलकर शोक मचाया, तब जाकर बगल वाले दुकानदार को घटना की जानकरी हुई। बाद में सूचना मिलने पर आई पुलिस टीम भी जॉच मे जुट गई। फोरेंसिक टीम ने भी मौके पर से साक्ष्य बटोरे। आसपास की दुकानों व मकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाले जा रहे हैं। एसटीएफ टीम भी इलाके के मोबाईल के डिटेल खंगाल रही है।

पहले आये दो, फिर घुसे चार…

पुलिस को अनुसार दो डकैत सांय 4:30 बजे कस्टमर्स बनकर शोरूम मे आये, और सोने की चेन दिखाने की बात कही, अभी सेल्स गर्ल उन दोनों को अलग अलग डिजाईन की चेन दिखा ही रहा था कि 4 डकैत और शोरूम में घुस आये। फिर सभी 6 डकैतो नें शोरूम में मौजूद कर्मचारियों, मालिक और कस्टमर्स को पिस्टल और चाकू की नोक पर लेकर बंधक बना लिया।

कोई स्टाफ, मालिक या कस्टमर्स मोबाईल से 100 नंबर न डॉयल कर दे, इसलिए डकैतो ने बंधकों से उनके फोन छीन लिए तथा शोरूम में लगे सीसीटीवी कैमरे को ढूँढ-ढूँढकर तोड दिया। डकैतो ने यहॉ तक सावधानी बरती कि जाने से पहले वो सीसीटीवी फुटेज को स्टोर करने वाली हार्डडिस्क तक साथ लेते गये, इससे लगता है कि डकैतो का गैंग कितना प्रोफेशनल वा तजुर्बेदार थे।

[email protected]

Share this news...