BREAKING NEWS
Search

महिलाओं की सुरक्षा के लिए इस ट्रेनी आॅफिसर ने उठाया अनोखा कदम

275
Meenakshi Mishra

मीनाक्षी मिश्रा

अमेठी। विदित हो कि सरकार द्वारा महिलाओं को जागरूक करने व उनकी सुरक्षा के लिये अनेक योजनाएं लागू की जाती रही हैं। किंतु आये दिन महिलाएं स्कूल, कॉलेजों के सम्मुख, बस स्टॉप व अन्य सार्वजनिक स्थलों पर शोहदों की शिकार होती रहती हैं।

जिसके चलते उनका संपूर्ण भविष्य दाँव पर लग जाता है। साथ ही सामाजिक परिवेश के पुरुष प्रधान ताने बाने में महिलाओं को आधी अधूरी शिक्षा के साथ घर बैठा दिया जाता है। और उनके ससम्मान जीवनशैली पर सामाजिक प्रश्न चिन्ह लग जाता है।

ऐसे में विधानसभा चुनाओ के दौरान अमित शाह द्वारा महिलाओ के लिये एंटी रोमियो दल के गठन के लिये किये गए वायदे के तजत योगी सरकार ने सरकार गठन के पश्चात इसको मूर्त रूप दे दिया है। किंतु सबसे बड़ा सवाल जस का तस बना हुआ है कि क्या हमारा पुलिसिया महकमा अपना नजरिया बदलेगा।

साथ ही क्या महिलाओ को वाकई सुरक्षा मिलेगी। विदित हो कि ज्यादातर मामलों में जो महिलाएं पुलिस दफ्तर का दरवाजा खटखटाने की हिम्मत भी जुटाती है, पुलिस टालमटोल करके मामले को रफा दफा करने में लग जाती है।

ऐसे में अमेठी में ट्रेनी सर्कल ऑफिसर संतोष कुमार सिंह जी द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिये वाहनों की चेकिंग, विद्यालय के सम्मुख महिलाओं की सुरक्षा के लिये एंटी रोमियों स्क्वायड द्वारा चेकिंग अभियान चलाना सराहनीय कदम है। किन्तु सवाल जस का तस बना हुआ है। क्या इस तरह के कदम से महिलाएं स्वयं को सुरक्षित महसूस करेंगी।

क्योंकि महिलाओं की सुरक्षा के लिये 1090 के गठन के पश्चात भी महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों में कोई कमी नहीं आयी है। अपराध घटित होने के बावजूद महिलाओं को प्राथमिकी दर्ज कराने के लिये दर दर की ठोकरें खानी पड़ती हैं।