doctor

मरीजों को दवाइयां हर हाल में उपलब्ध कराई जाए- सीएमओ

190
Meenakshi Mishra

मीनाक्षी मिश्रा

अमेठी। बात करें स्वास्थ्य महकमे की तो आम जनमानस का सर्वाधिक ताल्लुकात स्वास्थ्य महकमे से होता है। किसी भी व्यक्ति के किसी कार्य को करने से पूर्व सर्वाधिक महत्वपूर्ण उसका स्वास्थ्य होता हैं।

किंतु यदि यही महकमा स्वयं बीमार रहे तो समाज की बेहतरी कैसे संभव है। वहीं बात करें जनपद अमेठी की तो पूर्व में जनपद अमेठी में स्वास्थ्य महकमे के हालात बद से बद्तर थें।

ज्यादातर दवाइयां बाहर से लिखी जाती थीं। व सुविधा के नाम पर बड़े-बड़े मच्छर डेरा डाले रहते थें। जर्जर भवन स्वयं अपनी बदहाली का रोना रो रहे थे।

हुआ जबर्दस्त बदलाव

विदित हो कि योगी सरकार के आने के पश्चात तबादले का जबर्दस्त दौर शुरू हुआ। ऐसे में स्वास्थ्य महकमा भी इससे अछूता ना रहा। नए सीएमओ के आगमन के पश्चात से ही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तब्दीली जारी है। सीएमओ के अनुसार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सभी डॉक्टर व कर्मचारियों की हाजिरी के लिये बायोमेट्रिक मशीन का प्रयोग किया जायेगा। साथ ही उनके थंब  इम्प्रैशन की गणना के साथ ही उनकी हाजिरी मानी जायेगी।

इसके अतिरिक्त स्वास्थ्य महकमे में दवाइयों की उपलब्धता पर बात करें तो उन्होंने बताया कि समस्त स्वास्थ्य केंद्रों को निर्देशित किया गया है कि मरीजों की आवश्यकता के अनुसार यदि स्वास्थ्य केंद्र में दवाइयां उपलब्ध नही हैं तो उन्हें प्रधानमंत्री औषधि केंद्र से खरीद कर मरीजों को उपलब्ध कराई जाए।

व महीने के अंत में बाउचर के माध्यम से बिल का भुगतान उनके द्वारा किया जायेगा। साथ ही चिकित्साधिकारी ने बताया कि प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र में बेड की संख्या को 15 से बढाकर 30 कर दिया गया है। तथा प्रसूता कक्ष की सफाई प्रतिदिन करने का भी निर्देश जारी किया गया है।

उन्होंने स्पष्ट चेतावनी देते हुए कहा कि यदि कोई भी अधीक्षक अपने कार्यों को पूरा करने में असमर्थ पाए जाते हैं तो ऐसे में प्रतिकूल प्रविष्टि के साथ-साथ उनके बेतन में भी कटौती की जायेगी।

Meenakshi@janmanchnews.com

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।