UP police

स्कूल प्रशासन की लापरवाही बनी छात्रा की मौत का कारण, परिवार में मचा कोहराम, पुलिस बल मौके पर

167
Meenakshi Mishra

मीनाक्षी मिश्रा

अमेठी। एक माँ बाप के जीवन की सबसे बड़ी पूंजी उसकी औलाद होती है। हर वक्त वे अपने बच्चे को महफूज रखने का भरसक प्रयत्न करते हैं। वहीं विद्यालय बच्चों की शिक्षा के लिये एक बेहद विश्वसनीय व महफूज जगह मानी जाती है। बीते समय से आये दिन विद्यालयों में बच्चों के साथ होने वाले हादसों परिवारिक जनों को अंदर से झकझोर कर रख दिया है।

वैसे तो योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश में सत्ता में आने के पश्चात नियम विरुद्ध व असुविधा के मारे विद्यालयों पर कड़ा शिकंजा कसने का निर्देश दिया। किन्तु स्थानीय कर्मचारियों की भृष्टाचार में लिप्तता ने एक बेटी के सपनों को पंख लगने से पूर्व ही चकनाचूर कर दिया।

हृदय विदारक हादसा पीपरपुर थाना क्षेत्र के निजी विद्यालय की लापरवाही के चलते हुआ। जहाँ पर जर्जर भवन की दीवार ढहने से कक्षा तीन की छात्रा की मौत हो गयी । जबकि हादसे के दौरान दो बच्चियां गंभीर रूप से घायल हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार पीपरपुर थाना क्षेत्र के जनता नगर में लक्ष्य नर्सरी स्कूल की बाउंड्री वॉल ढहने से दीवार के नीचे तीन बच्चे दब गए। जिसमें एक की मौत हो गई और दो बच्चियॉंं गम्भीर रूप से घायल हो गई। हादसा उस वक्त हुआ जब स्कूल के बच्चे क्लास के लिए अन्दर जा रहे थे।

दर्दनाक हादसे के दौरान कक्षा तीन की छात्रा प्रियांशी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं अन्य दो बच्चियों को इलाज के लिए जिला अस्पताल ले जाया गया है।


घटना के पश्चात गुस्साये अभिभावकों ने स्कूल प्रशासन के खिलाफ जमकर हंगामा किया। वहीं हालात पर काबू पाने के लिए एसडीएम भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे।