BREAKING NEWS
Search
UP Police

डायल 100 व अमेठी पुलिस के कारनामे, दबाव डालकर नाबालिग से बदलवाई तहरीर

513
Meenakshi Mishra

मीनाक्षी मिश्रा

जनपद अमेठी। विदित हो कि योगी सरकार द्वारा विचौलियों के रोल खत्म करने व पुलिस महकमे की जवाब देही तय करने के लिये लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। किंतु थाना अमेठी की पुलिस इससे अछूती नजर आ रही है। यहाँ पर घूस खोरी का आलम यह है कि पीड़ित को ही गालियां देकर धमकाया जाता है। चाहे वह पीड़ित महिला व नाबालिग बच्चियां ही क्यों ना हों।

दरअसल ग्राम भवानी बख्श का पुरवा निवासी सुनीता मिश्रा पत्नी अशोक मिश्रा निवासी पूरे भवानी बख्श चौबे का पुरवा अपनी दो बच्चियों सपना उम्र 18 वर्ष व जया उम्र 11 वर्ष के साथ अपने घर के सम्मुख पड़े कूड़े को साफ़ कर रही थी।

तभी पीड़िता को घर में अकेला पाकर उसी गाँव के दबंग रामकरन चौबे पुत्र वृन्दावन चौबे, देव प्रकाश पुत्र रामकरन, चंद्रावती पत्नी रामकरन, संजू पत्नी वेद प्रकाश ने पीड़िता व उसकी बच्चियों को घर में अकेला पाकर लोहे की रॉड से पीटना शुरू कर दिया। जिसके चलते पीड़िता के सर फट गया व उसके पैर में व अन्य अंगों पर गंभीर चोटें आईं। साथ ही पीड़िता की बेटियों को भी दबंगों द्वारा लोहे की रॉड से मारा गया।

वहीं पीड़िता ने जब डायल 100 को इत्तिला दी तो दबंगों ने उसे भी पीड़िता के अनुसार दस हजार रूपये देकर मैनेज कर लिया व घटना के 2 घण्टे पश्चात डायल 100 घटना स्थल पर पहुँची। वहीं पीड़िता जैसे तैसे अपने पति व नाबालिग बेटे के साथ अमेठी थाने पहुंची। जहां पर दबंगों ने पहले ही पीड़िता के अनुसार रोकड़ा पहुंचा दिया था।

पीड़िता को थानाध्यक्ष अमेठी ने उसके पति के साथ मेडिकल कराने के लिये भेजकर उसके नाबालिग बेटे से थाने में तहरीर बदलवाकर पीड़िता के लौटने से पहले ही कमजोर धाराओं में एफ आई आर दर्ज करते हुए मामूली धाराएं 323, 504 लगाकर भेज दिया।

पीड़िता के कार्यवाही के बाबत पूंछने पर उसी हल्के के दरोगा ने पीड़िता को भद्दी भद्दी गालियां दी। साथ ही पीड़िता ने अपनी नाबालिग बेटियों के साथ घटी घटना की बात की तो थानाध्यक्ष का कहना था कि अब कुछ नही हो सकता।

वहीं एक महिला पर बर्बरता पूर्वक कहर ढाने वाले आरोपी खुले आम घूम रहे हैं। जबकि थानाध्यक्ष आरोपियों को बचाने की तरकीबें निकाल रहे हैं। जिसके बाबत पीड़ित महिला ने थानाध्यक्ष अमेठी से गुहार लगायी किन्तु अब तक कोई कार्यवाही नही हुई।