BREAKING NEWS
Search
shamli police

शामली पुलिस कप्तान नें कुछ ऐसा किया कि मच गयी पुलिस महकमें में हड़कंप

996

शामली सवांददाता,

शामली: जनपद के पुलिस अधीक्षक श्री अजय पाल शर्मा नें अाज कुछ ऐसा कर डाला कि उनके ही महकमें में बुरी तरह से हड़कंप मच गई।

दरअसल शामली पुलिस कप्तान को काफी समय से पुलिस कर्मियो द्वारा हाईवे और शहर के अंदर भारी वाहन को प्रवेश देने के एवज में वसूली किये जानें की शिकायते मिल रही थी। जिस पर कप्तान नें अपनें ही महकमें के कर्मचारियों का रियल्टी चेक करनें का मन बना लिया।

ये भी पढ़ें…

पटना में बजरंग दल की तिरंगा यात्रा नें भड़काया संप्रदायिक तनाव, भारी पुलिस फोर्स मौके पर

स्वाधीनता दिवस की पूर्व संध्या पर रात में चेहरे पर टॉवल लपेटकर सादी वर्दी में एक ट्रक में ड्राईवर के बगल में बैठ गये और ट्रक ड्राईवर से पूरे शहर का चक्कर लगाने को कहा। पुलिस कप्तान यह देखकर दंग रह गये कि शहर के अंदर उस ट्रक को हर चौराहे पर पुलिस कर्मियो द्वारा रोका जा रहा था और अवैध वसूली की जा रही थी।

Gallery with ID 4 doesn't exist.

चेकिंग के दौरान पुलिसकर्मियों की कई खामियों को उन्होंने पकड़ा। जैसे ही ट्रक ड्राईवर से पुलिस कर्मी पैसो की डिमांड करते तौलिये से मुँह छिपाये कप्तान अजय पाल नीचे उतरते और पैसे मॉगने का कारण पूछते, जाहिर है पुलिस वाले उन्हे क्लिनर समझकर रोब में लेने की कोशिश करते। लेकिन जैसे ही कप्तान अजय पाल चेहरे से तौलिया हटाते सामने वाले पुलिस कर्मी के चेहरे का रंग उड़ जाता।

shamli police

Janmanchnews.com

शहर में ट्रक में बैठ कर चेकिंग के बाद वह हाईवे पर पहुँचे और वहॉ का पुलिस कर्मियो द्वारा किया जाने वाला वसूली अभियान देखा। इस पूरी कवायद में कई पुलिसकर्मी सस्पेंड कर दिये गये। कई दरोगा को रिजर्व में भेज दिया गया। एक इमानदार पुलिस कर्मी को 1100₹ का नगद इनाम भी कप्तान द्वारा दिये जाने की सूचना है।

ये भी पढ़ें…

फोन पर बात करती लड़की को अचानक बेरहमी से पीटने लगा एसपीओ, लोग बने मूकदर्शक

उस पुलिस वाले नें ट्रक ड्राईवर द्वारा स्वंय दिया जा रहा पॉंच सौ का नोट लेने से मनाकर दिया और ट्रक के पिछले हिस्से में खुद चढ़कर टार्च की रोशनी में जॉच किया। अपनें सामनें सिविल ड्रेस में पुलिस अधीक्षक को देखकर वह सिपाही हतप्रभ रह गया। कप्तान मे उसे शाबाशी दी और इनाम के तौर पर 11 सौ रुपए सिपाही को दिया।

इस घटना का जिक्र सारा दिन पुलिस महकमें में चलता रहा, एक पुलिस कर्मी को हमारे सवांददाता नें कहते सुना कि “अगर कप्तान साहब ऐसा करेगें तो बेटे को एमबीए कैसे करा पायेगें।”

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।