BREAKING NEWS
Search
shravasti Student in trouble

बैंक कर्मियों की मनमानी से परेशान है छात्राएं एवं अभिभावक, कोई सुननेवाला नहीं!

526
Mithiliesh Pathak

मिथिलेश पाठक

श्रावस्ती। प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री बैंक के अधिकारियों को कितना भी निर्देश दे दें, लेकिन बैंक की मनमानी आये दिन सुनने को मिलती रहती है।

परिषदीय और जूनियर विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति खाते में ही आनी है। इसके लिए जीरो बैलेंस पर बैंकों में खाते खुलने हैं। बैंकों के मैनेजर जीरो बैलेंस पर खाते खुलने से अपना फायदा न होने के कारण अभिभावकों व छात्राओ को परेशान कर रहे हैं।

इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक शाखा वीरपुर में छात्रवृत्ति का खाता खुलवाने पर गरीब छात्र छात्राओ से 500 सौ रुपये जमा करने या फार्म गलत बता कर बैंक मैनेजर परेशान कर रहा है। श्रावस्ती जिले के इकौना वीरपुर में संचालित इलाहबाद यूपी ग्रामीण बैंक में खाता खोलने में आनाकानी की जा रही है।

Read this also…

सजा मुक़र्रर होने के पहले तक कैसी थी रेपिस्ट बाबा राम रहीम की लाइफस्टाइल

यही हाल अन्य बैंकों में भी खाता खोलवाने जब अभिभावक या छात्राएं बैंक जाती है तो बैंक मैनेजर द्वारा या तो 500 सौ रुपये जमा करने या फिर फार्म गलत बता कर वापस कर दिया जाता है। डीएम दीपक मीणा ने बैंक में छात्र छात्राओ के खाते खोलने के लिए जीरो बैलेंस और तत्काल खाता खोलने के लिए बैंक प्रबंधकों की बैठक भी बुलाई गई थी। जिसमें जीरो बैलेंस पर खाता खोलने को कहा गया था।

shravasti Student in trouble

Janmanchnews.com

लेकिन बैंको के कर्मचारियों के मनमानी से छात्र छात्राएं अभिभावक बैंक का चक्कर काट रहे है, और खाता नहीं खुल रहा है। जिससे लोग परेशान तो हो ही रहे हैं साथ ही योजनाओं से भी बाहर हो सकते हैं। कई बैंकों में पैसा और फॉर्म जमा कर लिया गया परन्तु, उन्हें पासबुक नही मिल आ रही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंट्विटर पर फॉलो करें।