BREAKING NEWS
Search
varansi DM

वाराणसी डीएम लाव-लश्कर के साथ पहुंचे दालमंडी, अतिक्रमणकारियों से 20 लाख शाम तक वसूलने का दिया आदेश

478
Share this news...

गुरुवार से शनिवार तक गर्दिश में रहे दालमंडी निवासियों के सितारे, डीएम के औचक निरीक्षण से दालमंडी मार्केट में मची अफरातफरी…

Santosh Agrahari

संतोष अग्रहरी

वाराणसी। पहले गुरुवार रात साढ़े दस बजे ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के एक चबूतरे का टूटना, जिसके बाद दालमंडी के लोगों द्वारा चौक थानें का जबरदस्त घेराव। फिर अगले दिन जुमा की नमाज़ से पहले प्रशासन द्वारा टूटे हुये हिस्से का निर्माण कराना, जिसके बाद मस्जिद कमेटी के द्वारा काशी विश्वनाथ मंदिर के सीईओ विशाल सिंह व उनके द्वारा नियुक्त ठेकेदार के विरुद्ध चौक थानें में दी गई तहरीर का वापस लेना।

फिर शनिवार को जिलाधिकारी सुरेंद्र सिंह का पूरे लाव लश्कर के साथ दालमंडी मार्केट पहुंच जाना और अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों का चालान करना, यह सब सिलसिलेवार ढंग से होना बताता है कि सभी घटना एक-दूसरे से किसी न किसी तरह जुड़ी हैं।

बता दें, कि शनिवार को शहर के सबसे बड़े मार्केट दालमंडी में डीएम पैदल ही धमक पड़े। जिलाधिकारी को पैदल देख व्यापारियों में हड़कंप मच गया और सभी सड़क पर लगी अपनी दुकानों को अंदर करते दिखाई दिए।

प्रतिबंधित काली प्लास्टिक और अतिक्रमण के निरीक्षण को निकले जिलाधिकारी ने नगर निगम के कर्मचारियों को दिन भर में दालमंडी से 20 लाख रुपये का जुर्माना वसूलने के निर्देश दे दिये।

जगजाहिर है कि दालमंडी में दुकानदार अपनी दुकान सड़क पर बाहर निकालकर लगाते हैं। इसी पर ज़िलाधिकारी ने आज सख्ती दिखाई और कईयों का चालान अपनी मौजूदगी में निगम से करने को कहा। दालमंडी गली की सड़क की हालत देख डीएम बेहद नाराज दिखे।

उन्‍होंने नाराज होते हुए कहा, ”यहां तो सब दुकान बाहर है, सबका चालान काटो और शाम तक 20 लाख रुपये शमन शुल्क वसूलो, उन्होने आदेश दिया कि 5 हज़ार से काम रुपये का चालान नहीं कटना चाहिए और न ही 50 हजार से अधिक का ही हो।”

चौक से दालमंडी में भारी पुलिस फ़ोर्स और सीओ दशाश्वमेध के साथ पैदल ही चेकिंग अभियान पर निकले जिलाधिकारी ने कई दुकानों से प्रतिबंधित प्‍लास्‍टिक बैग भी बरामद किये, जिन्हे ज़ब्त करते हुए दुकानदारों का 5 हज़ार से 25 हज़ार का चालान भी किया। इस समय दालमंडी के व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

जिलाधिकारी दालमंडी से होते हुये नई सड़क भी पहुंचे जहां अतिक्रमण करने वाले दुकानदारों के विरुद्ध जुर्माना वसूलने का आदेश उन्होने साथ चल रहे नगर निगम अधिकारियों को दिया।

उधर दालमंडी चौक, नारियल बाजार, ठठेरी बाजार, नई सड़क, हड़हा सराय जैसी व्यस्त बाजारों के दुकानदारों में अलग तरह की सुगबुगाहट सुनाई दी। लोग यह कहते सुने गये कि ज्ञानवापी मस्जिद की दीवार वाले प्रकरण पर दालमंडी के लोगों द्वारा चौक थानें का घेराव करने की कीमत उन्हे अतिक्रमण के नाम पर चालान कटवाकर देनी पड़ी।

लोग तो यहां तक कहते सुने गये कि ठठेरी बाजार और नारियल बाजार में अतिक्रमण का हाल दालमंडी सें ज्यादा बुरा है। लेकिन वहां डीएम साहब ने जाने की जहमत नही उठाई। लोगों का मानना है कि काशी विश्वनाथ मंदिर प्रशासन नें ज्ञानवापी दीवार प्रकरण की शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की और दालमंडी के लोगों द्वारा किये गये हंगामें की सूचना उन्हे दी।

फलस्वरूप सीएमओ से वाराणसी डीएम को दालमंडी वालों के खिलाफ कार्यावाई करने का आदेश दे दिया गया वरना इससे पहले दालमंडी के अतिक्रमण को लेकर कभी इतनी सख्ती नही दिखाई दी।

बहरहाल जो भी हो, जिलाधिकारी के इस कदम से यदि दालमंडी का अतिक्रमण काबू आ गया तो आम लोगों को काफी राहत मिलेगी।

Share this news...