BREAKING NEWS
Search

बनारस क्लब के खिलाफ अधिवक्ताओ ने फिर खोला मोर्चा

690

डीएम पोर्टिको मे किया धरना-प्रदर्शन, बनारस क्लब को कचहरी परिसर में मिलाने की मांग…

–अंकुर पटेल


वाराणसी: विधान परिषद समिति के आदेश के बाद अधिवक्ताओ ने भी बनारस क्लब के अवैध कब्जे के खिलाफ एक बार फिर मोर्चा खोल दिया है। एक तरफ अधिवक्ताओ ने डीएम पोर्टिको में धरना प्रदर्शन कर आंदोलन की शुरूआत कर दिया वही दूसरी ओर पूर्व महामंत्री बनारस बार नित्यानन्द राय के प्रस्ताव पर सेन्ट्रल बार अध्यक्ष शिवपुजन सिंह गौतम ने संयुक्त बार के साधारण सभा की असाधारण बैठक आज डेढ बजे बुलायी।

मंगलवार को नित्यानन्द राय ने सेन्ट्रल बार के अध्यक्ष को प्रस्ताव दिया। प्रस्ताव मे कहा गया कि बनारस क्लब ने रोड, पब्लिक लाइब्रेरी की जमीन पर अवैध कब्जा किया हुआ है, यही नही बनारस में अवैध कब्जे वाली तीन आराजी पर बाग मालिकान और कम्पनी बाग दर्ज है, ये जमीन पर्यावरण के दृष्टि से भी महत्व रखती है। बाकि जमीन पर भी क्लब ने फर्जी बैनामा के आधार पर कब्जा किया हुआ है। इन आराजियात पर बनारस क्लब का कब्जा हटा कर बनारस कचहरी का विस्तारिकरण किया जाय। अध्यक्ष ने मामले की गंभीरता को देखते हुये मीटिंग बुला ली और तत्काल डीएम पोर्टीको मे धरना प्रदर्शन का निर्णय लिया।

सेन्ट्रल बार अध्यक्ष और बनारस बार अध्यक्ष राजेश मिश्र की अगुवाई मे अधिवक्ता ”बनारस क्लब खाली करो, वहा बनेगा न्याय का मंदिर। अय्याशी बन्द करो। अफशरशाही मुर्दाबाद’’ जैसे नारे लगाते हुये सेन्ट्रल बार सभागार से निकले।

धरना प्रदर्शन मे सेन्ट्रल बार अध्यक्ष, महामंत्री ब्रजेश मिश्रा, बनारस बार अध्यक्ष, अशोक सिंह प्रिंस, नित्यानन्द राय, अंकुर पटेल, विपिन पाठक, अशोक कुमार, इकबाल हसन पप्पु, विनोद सिंह, प्रवीण मिश्रा, नृपेन्द सिंह नन्हे, आशीष सिह समेत सैकङो की संख्या में अधिवक्ता शामिल रहे।