BREAKING NEWS
Search
enchochment

अपर कलेक्टर के वाहन चालक के अतिक्रमण नीति पर चुप क्यों हैं तेज तर्रार डीएम

473

कलेक्टर की चुप्पी खड़े कर रहे कई सवाल…

Rambihari pandey

रामबिहारी पांडेय

सीधी। जिले के नगरीय क्षेत्र के सरकारी भूमि पर रसूखदारों की नजर टिकी हुई है, इनके विरुद्ध कार्रवाई करने की जहमत हाल ही में पदस्थ हुए तेजतर्रार कलेक्टर भी नहीं उठा पा रहे है। जिसके कारण रसूखदार अतिक्रमणकारी एक-एक कर सभी जमीनों पर अपना कब्जा जमा जमाता जा रहा है।

कलेक्टर शासकीय भूमि में बने अनावश्यक मकान व अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई में जुटे हुए हैं। वहीं एडीएम के ड्राइवर ने कलेक्ट्रेट से चंद दूर स्थित नजूल की भूमि पर हवेली बनाकर किराये पर उठवा दिया। उसकी प्रशासनिक पहुंचे के चलते लोग शिकायत की हिम्मत भी नहीं जुटा पा रहे।

आरोप है कि वह खुद तो अतिक्रमण कर ही लिया, अपने चहेतों को भी इसके लिए प्रेरित कर रहा है। उसके भाई, भतीजे भी इसी भूमि पर आवास का निर्माण करने में जुट गए हैं। दिन को निर्माण बंद रहता है, सुबह लोगों को नया निर्माण कार्य देखने को मिल जाता है। मामले को लेकर वरिष्ठ अधिकारियों के संरक्षण होने की भी चर्चा की जा रही है।

बेवा का बना हुआ मकान तोड़ा था प्रशासन:-

उत्तरी करौंदिया स्थित हरिजन थाना के बगल में खाली पड़ी शासकीय भूमि छात्रावास के लिए आरक्षित की गई थी। जिस पर हवेली तान दी गई है। पूर्व में इसी जमीन पर बेवा राजकुमारी सिंह ने आवास निर्माण कर लिया था। इसमें तबेला बनाकर भैंस पाल ली थी।

Encrochment

Janmanchnews.com

जिसकी शिकायत पर प्रशासन ने कार्रवाई करते हुए जेसीबी से उसका मकान ढहा दिया था। लेकिन कुछ महीने बाद ही अपर कलेक्टर के ड्राइवर श्यामलाल जायसवाल ने खसरा क्रमांक 302/1 पर अतिक्रमण कर आवास का निर्माण करा लिया। इस पर प्रशासन की नजर नहीं पड़ रही है।

दूसरे मकान में रहता है परिवार के साथ:-

बताया गया कि चालक श्यामलाल जायसवाल जहां अतिक्रमण कर आवास का निर्माण कराया गया है, उसके अलावा भी वह शहर में दूसरा आवास का निर्माण किया है। जहां वह अपने परिवार के साथ रहता है। अतिक्रमणित नजूल की भूमि पर कराए गए आवास निर्माण मे दो कमरे किराए पर दिया है, जिसके बदले किराएदारी वसूल रहा है।

आवास के साथ बना ली बाउंड्रीवाल:-

चालक के द्वारा न सिर्फ नजूल की भूमि पर अतिक्रमण कर आवास का निर्माण किया गया, बल्कि आवास को सुरक्षित रखने के लिए चारो तरफ बाउंड्रीवाल का निर्माण कर लिया गया है। बताया गया कि प्रशासन के द्वारा करीब चार वर्ष पूर्व कार्रवाई के लिए आदेश जारी किया गया था। जिस पर श्यामलाल जायसवाल के द्वारा स्थगन ले लिया गया था, उसके बाद आज दिनांक तक प्रशासन के द्वारा किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं की गई।

दोषी मिलने पर करेंगे कार्रवाई:-

सीधी के अपर कलेक्टर डीपी वर्मन ने बताया कि चालक के खिलाफ अतिक्रमण कर आवास निर्माण करने की जानकारी मुझे नहीं थी और न ही मेरे संज्ञान में आई है। आपने मामला मेरे संज्ञान लाया है, तो मैं जांच कर समुचित कार्रवाई करूंगा।